बेटियां जहमत नही, अल्लाह की रहमत है

SHARE

निकटवर्ती सालासर के आर.एन.पब्लिक शिक्षण संस्थान एवं दामोदरलाल सरावगी बालिका उ.मा. विद्यालय में कस्बे की गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति द्वारा बेटी बचाओ आन्दोलन के अन्र्तगत एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मूक-चीख अल्ट्रा साउण्ड फिल्म का प्रदशर्न कर कन्याभ्रूण हत्या के रोकथाम का संदेश दिया गया। हाजी शम्सूद्दीन स्नेही ने अजन्मी बेटियों की हत्या को जघन्य अपराध बताते हुए कहा कि बेटियां जहमत नही यह तो अल्लाह की रहमत है।

संस्था अध्यक्ष करणीदान मंत्री ने कन्या भु्रण हत्या को पाप बताते हुए कहा कि इस पाप की इजाजत कोई भी धर्म नहीं देता तथा समय रहते इस कुकृत्य को नही रोका गया तो आने वाले समय में बिगड़ते लिंगानुनात का खामियाजा हम सब को भुगतना पड़ेगा। प्राचार्या श्रीमती सुजाता माथूर ने इस कुकृत्य को रोकने के लिए कन्याओं के प्रति सोच बदलने का आह्वान किया। इस अवसर पर प्राचार्य लादुसिंह नीतूसिंह राठौड़, हेमलता औझा, सुमित्रा शर्मा, अंजना, मंजू पंवार व निशा व्यास सहित छात्राएं एवं अनेक लोग उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY