कुई धंसने से श्रमिक की मौत, गुस्साये लोगों ने की अस्पताल में तोड़-फोड़

SHARE

bagadiya-hospital

कस्बे के एन.के. लोहिया स्टेडियम के सामने स्थित गली में नन्दकिशोर मुंधड़ा के निर्माणाधीन मकान में कुई धंसने से एक श्रमिक की मौत हो गई तथा एक घायल हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह नन्दकिशोर मुन्धड़ा के निर्माणाधीन मकान पर श्रमिक कुई खोद रहे थे कि करीब 11.30 बजे अचानक कुई धंस गई। जिससे कुई खोदने वाले श्रमिक मंजूर अली पुत्र रज्जाक मुस्लिम नाई एवं अनवर पुत्र मिट्टी ढ़हने से कुई में ही दब गये। कुई धंसने की सूचना मिलने पर पुलिस तुरन्त मौके पर पंहूची तथा वहां काम कर रहे अन्य श्रमिकों के सहयोग से दोनो दबे हुए युवकों को करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद उन्हे बाहर निकाला जा सका।

एम्बूलैंस के जरिये दोनो घायलों को राजकीय बगडिय़ा चिकित्सालय पंहूचाया गया। जहां पर चिकित्सकों के नहीं मिलने तथा अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर के ताला लगा होने से गुस्साये लोगों ने ऑपरेशन थियेटर के शिशे तोड़ दिये तथा चिकित्सालय में हंगामा किया। लोगों ने चिकित्सालय परिसर में बने डा. दिलीप सोनी के सरकारी आवास में भी तोड़-फोड़ की। चिकित्सकोंद्वारा मंजूर अली को मृत घोषित करने के बाद परिजनों एवं लोगों ने लापरवाह चिकित्सकों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग एवं मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग करते हुए शव लेने से इंकार कर दिया। करीब चार घंटे तक चले हंगामेे के बाद प्रशासन एवं मृतक के परिजनों व शकील अहमद पुत्र पीर मोहम्मद मुस्लिम नाई, पार्षद हाकम अली, बीदासर के जुल्फीकार भुट्टो, युनूस खान, मुराद खां ताजनाण के मध्य उपखण्ड अधिकारी फतेह मोहम्मद खान, एएसपी महेन्द्र, पुलिस उप अधीक्षक हेमाराम चौधरी, थाना प्रभारी उम्मेदसिंह, सालासर थानाधिकारी कमल कुमार आदि के मध्य वार्ता हुई। जिसमें उपखण्ड अधिकारी ने नियमानुसार मुआवजा देने का प्रस्ताव सरकार भिजवाने का आश्वासन दिया।

सामचार लिखे जाने तक परिजनों एवं अन्य लोगों ने मृतक का शव नहीं उठाया। पीएमओ डा. सी.आर. सेठिया ने बताया कि कुई धंसने की सूचना मिलने के साथ अस्पताल में चिकित्सकों एवं नर्सिंग कर्मियों को अलर्ट कर दिया गया था तथा जब वे घायलों को लेकर आये तब नर्सिंग अधीक्षक रमेश खत्री नीचे एवं कम्पाउण्डर अन्नाराम व लक्ष्मण दोनो ऊपर थे और चिकित्सक पंहूच रहे थे। लेकिन लोग घायलों को सीधे ही ऑपरेशन थियेटर ले गये तथा वहां पर तोडफ़ोड़ करने लगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY