रेलवे स्टेशन के निरीक्षण में डीआरएम को भी तोडऩा पड़ा कानून

SHARE

Sujangarh railway station

पश्चिम रेलवे के जोधपुर मण्डल के डीआरएम राजीव शर्मा ने मंगलवार सुबह सुजानगढ़ रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के दौरान सहवृत सदस्य लालचन्द शर्मा, एड. प्रदीप सोनी, युनुस खान, रेलवे सलाहकार बोर्ड के सदस्य सुभाष ढ़ाका, शैलेन्द्र लाटा ने डीआरएम से माल गोदाम के पीछे एकत्रित हो रहे गंदे पानी की निकासी के उपाय करने तथा फुट ब्रिज, अण्डर ब्रिज व ऑवरब्रिज निर्माण करवाने की मांग की। उपस्थितजनों ने जोधपुर -कामख्या एक्सप्रेस गाड़ी को शीघ्र शुरू करने, जोधपुर-दिल्ली को हरिद्वार तक बढ़ाने, बीकानेर -रतनगढ़ को डेगाना या मेड़ता सिटी तक बढ़ाने की मांग की।

कस्बेवासियों को कहना था कि बीकानेर-रतनगढ़ गाड़ी रतनगढ़ रेलवे स्टेशन पर 11 घंटे तक खड़ी रहती है। जिसे अगर मेड़ता तक बढ़ाया जाता है, तो क्षेत्रवासियों के लिए बीकानेर से मेड़ता तक के आवागमन का सुगम एवं सस्ता साधन उपलब्ध होगा तथा रेलवे की आय में भी ईजाफा होगा। लोगों ने रेलवे स्टेशन के बाहर निर्माणाधीन सीमेन्टेड़ सड़क के निर्माण पर रेलवे की आपति को हटाने की गुजारिश करते हुए जनहित में सड़क का निर्माण होने देने की मांग की। रेलवे के डीआरएम राजीव शर्मा ने कहा कि सुजानगढ़ रेलवे के लिए महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है। जिसे विकसित करने के लिए एक्शन प्लान बनाया जायेगा। उन्होने कहा कि यहां पर आदर्श रेलवे स्टेशन की सुविधायें बढ़ाई जायेगी तथा आरयुबी जल्दी ही शुरू की जायेगी। शर्मा ने रेलवे स्टेशन गाडिय़ा के आवागमन को इंगित करने वाली स्लाईड शुरू करने का भी आश्वासन दिया। रेलवे स्टेशन की सफाई व्यवस्था से नाखुशी जाहिर करते हुए शर्मा ने शौचालयों की व्यवस्था सुधारने तथा प्रतीक्षालय में सुविधायें बढ़ाने पर भी विचार करने का आश्वासन दिया।

Sujangarh railway station1

डीआरएम को भी तोडऩा पड़ा कानून
रेलवे लाईन क्रॉस करना कानूनन जुर्म है, जिसके तहत रेलवे लाईन पार करने पर जुर्माना तथा सजा या दोनो हो सकते हैं। लेकिन मंगलवार को रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नं. 3 पर बान्द्रा-हिसार सुपरफास्ट खड़ी थी तो प्लेटफार्म नं. 1 पर हिसार जोधपुर सवारी गाड़ी खड़ी थी। ऐसे में रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के दौरान प्लेटफार्म नं. तीन से एक पर आने के लिए ऑवरब्रिज नहीं होने के कारण डीआरएम शर्मा को भी रेलवे लाईन क्रॉस करके तीन नं. से एक नं. के प्लेटफार्म पर आना पड़ा। रेलवे लाईन क्रॉसिंग के दौरान उन्होने यात्रियों एवं अन्य लोगों रेलवे लाईन क्रॉस करते हुए देखा भी था। रेलवे के नियमानुसार यही कार्य आम आदमी करता है तो उसे जुर्माना पड़ता है और जेल की भी हवा खानी पड़ सकती है। लेकिन उच्चाधिकारी को कौन कहे? रेलवे लाईन क्रॉस करते समय शायद उन्होने सुजानगढ़ के लोगेां की पीड़ा को भी समझा हो और उनकी यह परेशानी और उसके बाद की समझ से शायद सुजानगढ़ रेलवे स्टेशन पर ऑवरब्रिज एवं फुट ब्रिज का मार्ग प्रशस्त हो।

5 COMMENTS

  1. रेलवे लाईन को क्या हवा में उड़ कर पार करेगा

    जब वहाँ लाइन को पार करने का दुसरा कोई विकल्प हि नहीं है

    कोई खबर नहीं मिले तो हर कुछ ही उलटा सीधा छापेगा
    कया

    Website को बेच क्यों नहीं देते

    • Bhai ek bar thik se padho news ko…

      Line paar karne ka koi rasta nahi hai yah to bata rahe hain.

      Railway ke rules ke according koi railway line cross karta hai to use fine dena padta hai. Par Sujangarh ke log majboor mai like cross karne ke liye.

      “Website को बेच क्यों नहीं देते” … Website banai hai koi complex nahi banaya ki bana kar dukaane bech du.

LEAVE A REPLY