भागवत कथा में कृष्ण -राधा विवाह की सजी झांकी

SHARE

Bhagwat-Katha

गाडोदिया गेस्ट हाउस के पास नोहरे में चल रही श्री मद् भागवत ज्ञान कथा के छठे दिन व्यास पीठ पर विराजित कथा वाचक वृदावन के बाल संन्त भरतशरण ने कृष्ण के बाल्यकाल के प्रसंगो पर चर्चा करते हुए कहा कि भगवान प्रेम मधुर श्रद्धा विश्वास और आस्था के प्रतीक है। आस्था व विश्वास के साथ याद करने पर भगवान हर प्रकार की मुश्किलों का निवारण करने के लिए तत्पर रहते हैं।

उन्होने भगवान कृष्ण का आत्मीय लगाव गोपियो केअटुट प्रेम श्रद्धा आस्था के प्रसगो का जिक्र करते हुए रासलीला का संजीव चित्रण प्रस्तुत कर श्रोताओ मंत्र मुग्ध कर दिया । भगवान कृष्ण का राधा विवाह की शानदार झांकिया निकाली । झाकियो को देखने के लिए श्रद्धालुओ की भीड उमडी । यजमान किसनलाल ,सन्तोष विश्वनाथ सुभाष बगडिया परिवार ने बालसंन्त भरतशरण महाराज का स्वागत किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here