विश्नोई के पदस्थापना आदेश को यथावत रखने की मांग

SHARE

SHO-Vishnu-Dutt

सुजानगढ़ थाने के थाना प्रभारी का भार पूर्व में सम्भाल चूके विष्णुदत विश्नोई को वापस सुजानगढ़ लगाये जाने के आदेश होने के बाद से उन्हे सुजानगढ़ थाने का पद भार ग्रहण करने से रोकने तथा पदस्थापना के आदेशों को निरस्त करवाने के लिए अघोषित रूप से कुछ लोगों द्वारा चलाये जा रहे कथित अभियान के विरोध में कस्बे के जागरूक लोगों ने डीजीपी जयपुर, आई.जी. बीकानेर तथा पुलिस अधीक्षक चूरू, जिला कलेक्टर को अलग-अलग ज्ञापन प्रेषित कर विश्नोई को सुजानगढ़ लगाये जाने का स्वागत करते हुए विष्णुदत से पदभार ग्रहण करने की की गुजारिश की है।

विश्नोई के नाम के आदेश होने के साथ ही महिलाओं एवं छात्राओं तथा युवतियों में जहां सुरक्षा का भाव पैदा हो गया हैं, वहीं आवारा मनचलों एवं अपराधियों में दहशत का माहौल है। जनचर्चा के अनुसार विष्णुदत के सुजानगढ़ थाना अधिकारी के रूप में पदस्थापन के किये गये आदेश को निरस्त करवाने के लिए लोग चूरू और जयपुर के चक्कर लगा रहे हैं। कस्बे के बाजारों में उभरी चर्चा के अनुसार विश्नोई से उन्हीं लोगों को खतरा है, जिनके गलत कामों को भी अब तक जायज ठहराया जाकर उनके पक्ष को ही मजबूत किया जाता रहा है।

लेकिन विश्नोई के आने से आम व गरीब आदमी की सुनवाई होगी। विश्नोई के आदेश रद्द करवाने में लोगों के जुटने की जानकारी मिलते ही कस्बे के जागरूक यशोदा माटोलिया, जगदीश भार्गव, मदन सोनी, भंवरलाल गिलाण, गोपाल सोनी, मनीष गोठडिय़ा, अनुज शर्मा, देवेन्द्र शर्मा, राकेश प्रजापत, पवन माहेश्वरी, गणेश मण्डावरिया, विष्णुदत त्रिवेदी, बुद्धिप्रकाश सोनी, वैद्य भंवरलाल शर्मा, अमरचन्द भाटी, अब्दूल सबूर बेहलीम, युसुफ गौरी, सांवरमल अग्रवाल, सन्तोष बेडिय़ा, नन्दलाल घासोलिया, रामरतन बोचीवाल, हेमराज माली, अंजनीकुमार रांकावत, गिरीश महाराज, मनोज पारीक सहित अनेक लोगों ने डीजीपी जयपुर, आई.जी. बीकानेर तथा पुलिस अधीक्षक चूरू, जिला कलेक्टर को अलग-अलग ज्ञापन प्रेषित कर विश्नोई को सुजानगढ़ में पदस्थापित करने के आदेशों को यथावत रखने की मांग करते हुए लिखा गया है कि विष्णु के आने से थाना क्षेत्र में अपराधों में 90 प्रतिशत कमी आ जायेगी तथा विश्नोई का विरोध अपराधी लोग ही कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here