पटेल का स्मारक बनाने के लिए जमीन देने की मांग

SHARE

Sardar-Vallabhbhai-Patel

कस्बे के ह्रदय स्थल गांधी चौक में अखण्ड भारत निर्माता सरदार वल्लभ भाई पटेल का 63 वां निर्वाण दिवस पथिक सेना द्वारा मनाया गया। लौह पुरूष को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महावीर पोसवाल ने कहा कि अखण्ड भारत के निर्माण में सरदार वल्लभ भाई पटेल के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। लेकिन केन्द्र की सरकारों ने उनके योगदान को भुला दिया है। यही कारण है कि केन्द्र सरकार महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, इन्दिरा गांधी, राजीव गांधी के नाम पर ही विभिन्न प्रकार की योजनायें शुरू की गई है।

लेकिन देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले पटेल को देश की सरकारों ने वह सम्मान नहीं दिया, जिसके वे हकदार थे। पोसवाल ने कार्यक्रम में उपस्थित स्थानीय विधायक खेमाराम मेघवाल से सरदार पटेल स्मारक बनाने के लिए जमीन आवंटित करवाने की मांग करते हुए कहा कि नगरपरिषद जमीन उपलब्ध करवा दे तो संस्थान अपने संसाधनों से स्मारक बनाने के लिए वचनबद्ध है। नवनिवार्चित विधायक खेमाराम मेघवाल ने चुनाव में जीतने के बाद पहली सार्वजनिक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि महापुरूषों का अनुसरण करना चाहिये तथा उनकी यादों को चिर स्थाई रखने के लिए स्मारक का निर्माण होना चाहिये।

उन्होने स्मारक निर्माण के लिए हरसम्भव सहयोग करने का आश्वासन दिया। तहसील अध्यक्ष मनीष गोठडिय़ा ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सुरेन्द्र भार्गव, एड. तिलोक मेघवाल, भंवरलाल गिलाण, वैद्य भंवरलाल शर्मा, गोपाल सोनी, राजूसिंह भाटी, मनीष दाधीच, इलियास खां, बुद्धिप्रकाश सोनी, लक्ष्मीनारायण गुर्जर, महेश जोशी, सोहनलाल गुर्जर, रामपाल यादव सहित अनेक लोग उपस्थित थे। संचालन घनश्याम नाथ कच्छावा ने किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY