कत्थक गंगाणी के निधन पर शोक

SHARE

Kathak-Gangani

राष्ट्रपति द्वारा संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से वर्ष 2001 में पुरूस्कृत कत्थक नृत्याचार्य सुन्दरलाल गंगाणी के निधन पर यंग्स क्लब अध्यक्ष निर्मल भुतोडिय़ा तथा सांस्कृतिक सचिव गिरधर शर्मा ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए स्व. गांगाणी के निधन को कत्थक नृत्य जगत में अपूरणीय क्षति बताया।

तहसील के ग्राम बडाबर में जन्मे राष्ट्रीय अन्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कत्थक गुरू स्व. गंगाणी को 1981 में राजस्थान संगीत नाटक अकादमी जोधपुर द्वारा फेलोशिप प्रदान की गई, 1990 में गुजरात सरकार द्वारा उन्हे गुजरात गौरव से नवाजा गया। स्व. गंगाणी ने अपनी साधना से कत्थक नृत्य के क्षेत्र में अनेकानेक शिष्यों को संगीत की शिक्षा प्रदान की। उन्ही की शिष्या अंजली अम्बेगांवकर द्वारा अमेरिका के व्हाईट हाऊस में शानदार प्रस्तुति देने पर स्व. गंगाणी को अमेरिका में सम्मानित किया गया। कत्थक नृत्य के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित कर कत्थक को नई ऊंचाईयां प्रदान करने में उन्होने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here