अल्पसंख्यक मोर्चा ने जताया भाटी में विश्वास

SHARE

BJPlogo

पूर्व उपराष्ट्रपति भैंरोसिंह शेखावत की 90 वीं जयन्ति पर अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अब्दुल जब्बार जरगर की अध्यक्षता एवं मण्डल अध्यक्ष जंवरीमल बागड़ी की उपस्थिति तथा पूर्व विधायक रामेश्वर भाटी के मुख्य आतिथ्य में पार्टी कार्यालय में अल्पसंख्यक सम्मेलन का आयोजन किया गया। स्व. शेखावत की प्रतिमा पर माल्यार्पण से शुरू हुए सम्मेलन में उपस्थित मुस्लिम बंधुओं को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक रामेश्वर भाटी ने भैंरोसिंह शेखावत के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शेखावत सम्पूर्ण व्यक्तित्व थे, जिन्होने राजनीति में सदाचार का पाठ पढ़ाया और जीवन पर्यन्त गरीब व पिछड़ों की उन्नित के उद्देश्य से अन्त्योदय जैसी योजनायें शुरू की।

जिन्हे अन्य पार्टियों की राज्य सरकारों ने अपने-अपने शासित प्रदेशों में भी बाद में शुरू किया। भाटी ने कहा कि कांग्रेस ने आज तक अल्पसंख्यक समुदाय को ठगा ही है। शेखावत के शासनकाल में अल्पसंख्यकों की सुध ली गई। अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शाकिर खान बेसवा ने कहा कि अल्पसंख्यकों को जो मान-सम्मान रामेश्वर भाटी के नेतृत्व में भाजपा में मिल सकता है, वहीं और कहीं नहीं है। बेसवा ने कहा कि कांग्रेस मुसलमानों को भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी का डर दिखा रही है। लेकिन मुसलमान अब कांग्रेस के बहकावे में नहीं आने वाले हैं। उपस्थित मुस्लिम समुदाय ने भाटी में अपना विश्वास जताते हुए उन्हे अपना पूरा समर्थन देने का भरोसा दिलाया। मोर्चा के पूर्व उपाध्यक्ष आबिद खीची ने कहा कि सम्मेलन में मुस्लिम समाज की 22 बिरादरी के सदस्य उपस्थित हैं। युवा नेता लियाकत खां ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्यकर्ता सभी बुथों तथा वार्डों में रामेश्वर भाटी के पक्ष में खुलकर प्रचार करेंगे।

युवा नेता ने कहा कि समुदाय को अपनी गुलामी की मानसिकता का त्याग कर जहां मान-सम्मान मिले उस व्यक्ति के साथ जुड़ जाना चाहिये। आजादी के बाद से ही अल्पसंख्यक कांग्रेस के साथ जुड़े हु़ए हैं, कांग्रेस के साथ हमारी पीढिय़ां बीत गई, लेकिन कांग्रेस ने हमें क्या दिया, इस पर विचार करना जरूरी है। सम्मेलन को एड. अशोक कुमार पारीक ने भी सम्बोधित किया। सम्मेलन में तनवीर बिसायती, रफीक बिसायती, असलम थीम, मोहम्मद अली सब्जीफरोश, बाबू सतार जोधा, आरीफ खां, इन्द्रचन्द सोनी, भागीरथ करवा, राजेन्द्र गिडिय़ा, आरीफ सांई, जालू व्यौपारी, हबीब व्यौपारी, खलील लीलगर, मोहम्मद अली काजी, मकसूद काजी, आरीफ नाई, जब्बार नाई, सिकन्दर नाई, मोहम्मद फिरोज दईया, मुराद खां ताजनाण, जावेद खीची, मनवर खां, अनवर खां, महफूज खां ज्यान मोहम्मद कसाई, अजरूद्दीन तेली, मैना लीलगर, इब्राहीम भाटी सहित सैंकड़ों मुस्लिम कार्यकर्ता उपस्थित थे। संचालन रहीम बक्स टाक ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here