शिलालेख पर लिखे शब्दों से महिला पार्षद शर्मसार

SHARE

Women-councilors

पूर्व मंत्री एवं क्षेत्रिय विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल विकास कार्यों के लोकार्पण करने में इतने ज्यादा व्यस्त हैं कि लोकार्पण के लिए लगाये जाने वाले शिलालेख पर क्या लिखा है, उसे पढऩे की उनको फुर्सत ही नहीं है। चाहे उस शिलालेख पर लिखे शब्दों से उस वार्ड की जनप्रतिनिधि को शर्मसार होना पड़ रहा है। ऐसा ही एक शिलालेख कस्बे के धिंगाणियां बास में लगा हुआ है। पार्षद की गली के बाहर लगे हुए उस शिलालेख पर लिखा हुआ कि विधायक कोटे से निर्मित सड़क निर्माण, अनवर पंवार बिलाल, वार्ड नं. 08 सुजानगढ़ पार्षद (महिला पार्षद का नाम) का लोकार्पण माननीय मा. भंवरलाल मेघवाल विधायक सुजानगढ़ एक्स शिक्षा श्रम व रोजगार मंत्री राजस्थान सरकार के कर कमलों द्वारा दिनांक 28.04.2013 को सुसम्पन्न हुआ कार्यकारी एजेन्सी अधिशाषी अभियन्ता सा.नि.वि. खण्ड रतनगढ़।

विधायक तथा उनके साथ लोकार्पण कार्यक्रमों में जाने वाले कांग्रेस के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को माला पहनने व साफा बंधवाने से ही इतनी फुर्सत नहीं मिलती कि वे शिलालेख पर लिखे शब्दों को पढ़ें और उनके मर्म को जाने। कार्यकारी एजेन्सी द्वारा की गई इस भुल के लिए उसके अधिकारियों और शिलालेख लिखने वाले को पता नहीं क्या सजा मिलेगी, लेकिन जिस महिला पार्षद का लोकार्पण करने का दावा इस शिलालेख में किया गया है, उसकी क्षतिग्रस्त हुई गरिमा को क्या विधायक एवं विभागीय अधिकारी वापस ला कर उसी उच्च स्थान पर प्रतिष्ठापित कर पायेंगे, जिस पर वह पहले थी? अप्रेल के अंत में लगे इस शिलालेख पर चार महीने बीत जाने के बाद भी मौहल्ले के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की नजर नहीं गई, कि इस शिलालेख में हुई भूल को सुधार कर उसे दुरूस्त करवाये जाये। फोटो खिंचवाने के बाद शिलालेख को देखने और पढऩे कि आखिर फुर्सत किसे है? चाहे उस पर लिखे शब्दों से किसी की गरिमा तार-तार हो तो हो जाये इनकी बला से।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here