अन्य प्रदेशों से ले राजस्थान के हिस्से का पानी – कृष्ण कुमार

SHARE

Rajasthan-Kisan-Union.jpeg

राजस्थान किसान युनियन के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण कुमार सारण ने पीडब्ल्यूडी के रेस्ट हाऊस में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि उनका संगठन गैर राजनीतिक संगठन है और इसका चुनावों से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होने जनता से अपने वोट की कीमत को पहचानते हुए जनहित को समर्पित जनप्रतिनिधि चुनने का आह्वान किया। सारण ने बताया कि आगामी एक-डेढ़ महीने में सुजानगढ़ तहसील के सभी गांवों में युनियन का पुर्नगठन किया जायेगा।

उन्होने बताया कि विगत एक वर्ष से चलाई जा रही किसान चेतना यात्रा के सफलतापूर्वक एक वर्ष के समापन पर किसान नेता स्व. दौलतराम सारण की पुण्यतिथि पर आगामी दो जुलाई को सरदारशहर में एक बड़े किसान सम्मेलन का आयोजन कर उन्हे श्रद्धांजली दी जायेगी। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि फसल बीमा के क्लेम का मुआवजा अकेले बीमा कम्पनी तय नहीं करे तथा इसे तय करने के लिए क्षेत्रिय प्रशासन, किसान प्रतिनिधि तथा बीमा कम्पनी तीनों मिलकर ही फसल बीमा के क्लेम को तय करे।

उन्होने कहा कि मुआवजे की गणना से किसान सन्तुष्ट नहीं है। सारण ने कहा कि पेयजल ही नहीं सरकार को सिंचाई के पानी की भी व्यवस्था करनी होगी, नहीं तो त्राहि-त्राहि मच जायेगी। गुजरात, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश से राजस्थान के हिस्से का पानी सरकार द्वारा लिया जावे। इस अवसर पर प्रदेश महासचिव सियाशरण किसान, प्रदेश सचिव इलियास खां, तहसील अध्यक्ष कुन्दनमल पुनियां, जिला महासचिव बेगराज के अलावा भगवानाराम ज्याणी, रामधन गुलेरिया, अमराराम गुलेरिया, गणेश पंवार सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे। माला पहनाकर अतिथियों का स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here