सूतक लगने के साथ ही बंद हो जायेंगे मन्दिर के पट

SHARE

Lakkhi-Fair

हनुमान जयन्ति पर सालासर बालाजी के लक्खी मेले में आज पुर्णिमा पर चन्द्र ग्रहण होने से बालाजी के दर्शन शाम चार बजे तक होंगे। ग्रहण का सूतक लगने के बाद मन्दिर के पट बंद कर दिये जायेंगे। गुरूवार को पुर्णिमा के साथ चन्द्र ग्रहण होने से पुण्य धरा सालासर में अपने आराध्य के दर्शन करने की लालसा लिये भक्तों के बुधवार देर रात से आने की सम्भावना है।

Lakkhi-Fair1

ग्रहण समय में धर्म स्थलों पर स्नान करने तथा अपने आराध्य के दर्शन कर पुण्य लाभ अर्जित करने की मान्यता है। बालाजी के लक्खी मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के गुरूवार को पुर्णिमा के अवसर पर डेढु लाख के करीब आने की उम्मीद है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की सेवार्थ सालासर में जगह-जगह सेवाभावी संस्थाओं एवं लोगों द्वारा नि:शुल्क भण्डारे लगाये गये हैं, जिनमें चाय, नाश्ते, खाने, आराम करने की सुविधा बालाजी के भक्तों को उपलब्ध करवाई जा रही है, तो अनेक संस्थाओ चिकित्सा शिविर लगाये गये है। जिनमें श्रद्धालुओं का प्राथमिक उपचार किया जा रहा है। शिविरों में तेल-मालिश, गर्म पानी से सेक आदि से पदयात्रियों की सेवा की जा रही है।

Lakkhi-Fair2

बालाजी महाराज एवं अंजनी माता के दर्शनों के लिए बुधवार को दिनभर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। वहीं दूसरी ओर बालाजी के दर्शनों के बाद थके-हारे श्रद्धालु धर्मशालाओं व सेवा शिविरों में आराम करते नजर आ रहे थे। बालाजी के दर्शनों के लिए कनक दण्डवत आने वालों का सिलसिला भी रूक नहीं रहा है। बालाजी के दर्शन करने बाद श्रद्धालु अपनी मन्नौती का नारियल बांधकर मनोकामना पूर्ण करने का बालाजी महाराज सेप्रार्थना करते हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY