क्या जिला बनने की दौड़ में शामिल सुजला के सपने होंगे साकार

SHARE

sujangarh-District

मुख्य मंत्री अशोक गहलोत द्वारा आज बुधवार को राज्य विद्यानसभा में पेश किये जाने वाले बजट से सुजालांचल की जनता को काफी अपेक्षायें है। सुजलांचल की जनता को मुख्यमंत्री से सुजलांचल को जिला घोषित करने के साथ ही सुजानगढ़ को नगरपरिषद घोषित करने उम्मीद है। जिले के लिए प्रयासरत सभी कस्बों एवं नगरों में सरकार के रिकार्ड एवं मापदण्डों के अनुसार प्रथम स्थान पर रहने वाला सुजानगढ़ रियासत काल में बीकानेर रियासत का एक प्रमुख जिला था।

कस्बे में राजाजी की कोठी में बीकानेर महाराजा गंगासिंह एवं उनके उतरवर्ती राजाओं के दरबार लगते थे तथा अंग्रेज सरकार के पॉलिटिकल एजेण्ट का कार्यालय भ्ज्ञी चलता था। निजामत अदालत, जिला न्यायालय व अन्य अदालतें लगती थी। रियासत काल में जो जिला था, उसे आजादी के बाद सी ग्रेड देकर तहसील बना दिया गया। जिसका दंश आज भी अचंलवासियों के सीने में शुल की तरह चुभ रहा है। सुजानगढ़, जसवन्तगढ़, लाडनूं, छापर, बीदासर, नेछवा, डीडवाना को साथ लेकर जिले की संरचना को मूर्तरूप देने का जो सपना अंचल वासियों ने लम्बे समय से देख रखा है तथा 1965 में तत्त्कालीन विद्यायक फूलचन्द जैन द्वारा शुरू किया गये आन्दोलन की सफलता एवं सपने को मूर्तरूप आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पेश किये जा रहे बजट में मिलने की आशा अंचलवासियों को बड़ी बेसब्री से है। सम्भावित नवगठित सुजला जिले में शामिल होने वाली तहसीलों व उपतहसीलों की कुल जनसंख्या 12 लाख 35 हजार 756 है, जो सम्भावित जिलों में सबसे अधिक है।

सालासर बालाजी मन्दिर, ताल छापर कृष्ण मृग अभ्यारण्य, वेंकटेश्वर मन्दिर, श्री दिगम्बर जैन मन्दिर, द्रोणांचल पर्वत, स्यानण डूंगरी के साथ साण्डवा व पाबोलाव के प्रसिद्ध पशु मेले पर्यटकों व श्रद्धालुओं को आकर्षित करते हैं। राजकीय स्नातकोतर महाविद्यालय, सोनादेवी सेठिया कन्या महाविद्यलय एवं जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय जैसे शिक्षा के आधार स्तम्भ हैं, जिनमें अध्ययन करने के लिए सौ किमी के परिक्षेत्र से भी बाहर के छात्र-छात्रायें आते हैं। सुजला जिला बनाने के लिए सुजानगढ़, लाडनूं, छापर, बीदासर नगरपालिका व सुजानगढ़ एवं लाडनूं पंचायत समिति तथा जिला परिषद चूरू ने अपने प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवा दिये हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा आज पेश किये जाने वाले बजट में क्या सुजलाचंल वासियों की उम्मीदें व सपने पूरे होंगे? क्या सुजला जिला बनाने व सुजानगढ़ को नगरपरिषद बनाने की घोषणा कर मुख्यमंत्री करेंगे।मुख्यमंत्री द्वारा राज्य विधानसभा में पेश किये जाने वाले बजट पर सबसे ज्यादा सुजलांचल वासियों की नजरे हैं कि क्या उनके सपने साकार होंगे या उन्हे अभी और इंतजार करना पड़ेगा? सुजलांचल का जिला बनाने की घोषणा कर क्या मुख्यमंत्री उतर भीखा म्हारी बारी के इतिहास को आगामी विधानसभा चुनावों में बदल पायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here