मनीष व मनोज हत्याकाण्ड में दो गिरफ्तार

SHARE

Manish-murder

तौलियासर के मनोज हत्याकाण्ड के आरोपी सहित सुजानगढ़ के मनीष हत्याकाण्ड के आरोपी को भी पुलिस ने लोढ़सर गांव के धर्मकांटे के पास से गिरफ्तार किया है। सुजानगढ़ थाने के सीआई रामप्रताप विश्नोई ने बताया कि सालासर के तौलियासर गांव के मनोज ढ़ाका हत्याकाण्ड में पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर लोढ़सर गांव के धर्मकांटे के पास खड़े महेश पुत्र सुरजाराम गढ़वाल निवासी स्यानण, सुरेश पुत्र कजोड़मल खीचड़ निवासी बढ़ाढऱ सीकर तथा नरेश पुत्र सुरजाराम निवासी ढ़ाणी गोविन्दपुरा को गिरफ्तार किया है।

विश्नोई ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक चूरू के निर्देशानुसार पुलिस उप अधीक्षक नितेश आर्य के नेतृत्व में गठित टीम वारदात के बाद से ही आरोपियों की सघनता से तलाश कर रही थी। सीआई ने बताया कि मुखबीर से मिली सूचना पर पुलिस ने लोढ़सर सालासर रोड़ स्थित धर्मकांटे के पास स्कार्पियो गाड़ी के बाहर खड़े आरोपी महेश पुत्र सुरजाराम गढ़वाल निवासी स्यानण, सुरेश पुत्र कजोड़मल खीचड़ निवासी बढ़ाढऱ सीकर तथा नरेश पुत्र सुरजाराम निवासी स्यानण गिरफ्तार कर लिया। विश्नोई ने बताया कि एक अन्य आरोपी रामचन्द्र पुत्र डालाराम जाट निवासी खुड़ी करीब 15 मिनट पहले ही दाढ़ी बनवाने के लिए इनके पास से गया था और ये उसकी का इंतजार कर रहे थे। सीआई ने बताया कि मुकेश हत्याकाण्ड के आरोपी सुरेश खीचड़ पर पहले से ही अपहरण, अवैद्य शराब, मारपीट के मामले विभिन्न थानों में दर्ज है तथा सुरेश 6 मामलो में न्यायालय से भगौड़ा है।

विश्नोई ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में से एक महेश गढ़वाल सुजानगढ़ के मनीष हत्याकाण्ड का आरोपी है। जिसकी पुलिस को लम्बे समय से तलाश थी। महेश अवैद्य शराब का धंधा करता है तथा शराब की गाडिय़ों को लुटने का काम करता है। मनीष हत्याकाण्ड की जांच सीआईडी सीबी में होने के कारण महेश गढ़वाल व नरेश जाट को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। सीआई ने बताया कि मनीष हत्याकाण्ड के जांच अधिकारी को महेश की गिरफ्तारी के बारे में सूचना दे दी गई है। सालासर के मनोज हत्याकाण्ड में पुलिस को सुरेश की गिरफ्तारी के रूप में पहली सफलता मिली है। विश्नोई ने बताया कि प्रारम्भिक पुछताछ में मनोज हत्याकाण्ड में सुखराम पुत्र भंवरलाल मेघवाल निवासी कनवारी तथा मुकेश कनवारी के नाम सामने आये हैं। पुलिस को आरोपियों से किसी प्रकार का कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है।

अन्य आरोपियों के बारे में पुछताछ की जा रही है। सनद रहे कि सालासर थाने के तौलियासर गांव का मनोज पुत्र मोहनराम ढ़ाका गत दो दिसम्बर को बस में सवार होकर सालासर से अपने गांव तौलियासर जा रहा था कि रास्ते में उसे बस से उतार कर उसकी हत्या करने के बाद उसके शव को ढ़ाकावाली से आगे सड़क किनारे आरोपी पटक गये थे। इसी प्रकार सुजानगढ़ के मनीष हरिजन की 17 अप्रेल 2010 को छापर रोड़ स्थित सम्राट होटल के पास गोली मारकर हत्या की गई थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY