भ्रुण की हत्या कर प्रकृति के साथ खिलवाड़ करना घातक – निराले बाबा

SHARE

Brun's-murder

गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति द्वारा जैनाचार्य दिव्यानन्द विजय महाराज निराले बाबा के सानिध्य में स्थानीय माहेश्वरी भवन में ब्रह्मप्रकाश लाहोटी की अध्यक्षता एवं समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित संभागीय सम्मेलन के विशिष्ठि अतिथि पूसाराम चन्देलिया, देवकीनन्दन पुजारी, सरिता रूवाटिया थे। समारोह में उपस्थितजनों को आर्शीवचन कहते हुए निराले बाबा ने कहा कि सभी प्राणी संसार में जीना चाहते हैं तो बेटियों को क्यों मार दिया जाता है।

जीने का अधिकार प्रकृति तथा कानून ने जब सभी को दे रखा है तो फिर गर्भ में ही भ्रुण की हत्या कर प्रकृति के साथ खिलवाड़ करना घातक है। जिसके परिणाम समाज में सामने आने लगे हैं। समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने कहा कि बेटियों के प्रति सोच व मानसिकता बदलने की आवश्यकता है। जब तक बेटियों के प्रति हमारी मानसिकता नहीं बदलेगी तब तक भु्रण हत्या नहीं रूकेगी। तिवाड़ी ने कहा कि एसी के कमरों में बैठ कर सरकार के नुमाइन्दे सम्पति में बेटियों के हक का प्रावधान कर भाई-बहन को बांटने का प्रयास करते हैं। लेकिन हमारी संस्कृति में बेटी ने हमेशा से ही सम्पति को नही बांटकर माता-पिता के दु:खों को बांटा है। तिवाड़ी ने कहा कि जीवन बचाने की शपथ लेने वाला चिकित्सक ही गर्भस्थ शिशु की हत्या करता है। तिवाड़ी ने कहा कि गर्भपात तथा भु्रण हत्या करवाने वाले परिवार के साथ अपने रिश्ते समाप्त करने का संकल्प लें।

सरिता रूवाटिया ने रूंधे गले से बेटियों की रक्षा करने का संकल्प लेने का आह्वान किया। समिति के सालासर शाखा के अध्यक्ष देवकीनन्दन पुजारी ने कहा कि बेटी को बचाने के प्रयास होने चाहिये, न कि हम किसी पर इसके लिए दोषारोपण करें। पूसाराम चन्देलिया ने कहा कि माता-पिता एवं परिवारजनों की सहमति के बिना चिकित्सक गर्भपात नहीं करते हैं। दीप प्रज्ज्वलन एवं मंगलाचरण से शुरू हुए कार्यक्रम में अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। समिति के प्रदेश मंत्री टीकमचन्द भोजक ने संस्था का परिचय दिया। समिति के सुजानगढ़ अध्यक्ष करणीदान मंत्री ने स्मृति चिन्ह, शॉल ओढ़ाकर अतिथियों का स्वागत किया। प्रदेश उपाध्यक्ष बंशीधर धंधावत राजगढ़, करणीसिंह राठौड़ पीलीबंगा, डा. शिवशंकर गर्ग सीकर, लीलाधर पटवा श्रीगंगानगर ने भी विचार व्यक्त किये। सम्पत प्रजापत डीडवाना ने कविता प्रस्तुत की।

समिति के सुजानगढ़ अध्यक्ष करणीदान मंत्री, सालासर के श्रीराम कौशिक, मनोज मिश्रा, गोपाल पारीक, रतनगढ़ के राजकुमार चोटिया, मधु शर्मा, यशोदा माटोलिया, पार्वती अग्रवाल, मधुसूदन अग्रवाल, हाजी शम्सूद्दीन स्नेही, परमेश्वर करवा, मधुसूदन अग्रवाल, चन्द्रप्रभा सोनी, मांगीलाल पुरोहित, नरेन्द्रसिंह भाटी कमला शर्मा मदनगोपाल सोनी, राकेश शर्मा सहित अनेक लोग उपस्थित थे। संचालन दाऊलाल त्रिवेदी ने किया। इससे पूर्व सोमवार सुबह वेंकटेश्वर मन्दिर से समिति द्वारा जनजागरण रैली निकाली गई, जो रामपुरिया कॉटेज, घण्टाघर, गांधी चौक होते हुए सूरजकुमारी गाड़ोदिया बालिका विद्यालय जाकर सम्पन्न हुई। रैली में कस्बे की अनेक विद्यालयों के छात्र-छात्रायें शामिल हुये। रैली में तेरापंथ श्वेताम्बर महिला मण्डल अध्यक्षा विमला लोढ़ा, सचिव सुनिता भुतोडिय़ा सहित सभी सदस्यायें शामिल थी। कस्बेवासियों ने जगह-जगह पुष्पवर्षा कर जनजागरण रैली का स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here