स्वामी विवेकानन्द की जयन्ति पर शोभायात्रा

SHARE

Swami-Vivekananda's-Jaynti

विवेकानन्द सार्ध शती समारोह समिति द्वारा स्वामी विवेकानन्द की जयन्ति समारोह हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। समारोह पूर्व विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने वैंकटेश्वर मंदिर से शोभायात्रा निकाली। जो शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए एन के लोहिया स्टेडियम पहुंची। शोभायात्रा में विभिन्न विद्यालयों द्वारा स्वामी विवेकानन्द,भारत माता की झांकिया सजाई गई।

जहां विवेकानन्द सार्ध शती समारोह का आयोजन पालिकाध्यक्ष डॉ. विजयराज शर्मा की अध्यक्षता व करणीदान मंत्री के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया गया। समारोह के मुख्य वक्ता ग्यासीलाल जाट ने विवेकानन्द के सम्पूर्ण जीवन पर प्रकाश डाला। पालिकाध्यक्ष डॉ. विजयराज शर्मा ने स्वामी जी के पद चिन्हों पर चलने का संदेश दिया। समारोह में श्यामनाराया राठी, कानपुरा महाराज, जितेन्द्र भदौरिया ने भी विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन बंशीधर यादव ने किया। इस अवसर पर ओमप्रकाश तूनवाल, रामेश्वरलाल भाटी, नरेन्द्र भाटी, सांवरमल भोजक, संतोष बेडिया सहित अनेक लोग उपस्थित थे। इसी प्रकार आदर्श विद्या मंदिर परिसर में स्वामी विवेकानन्द जयन्ति अभिभावक सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षण संस्था के राष्ट्रीय मंत्री अवनीश भटनागर ने कहा कि हमें अपनी मातृ भाषा से उतना ही प्रेम करना चाहिए जितना अपनी मां से करते है। मां किसी भी प्रकार की हो हम उससे अनन्य प्रेम करते है।

परन्तु हम अपनी मातृ भाषा से कटते जा रहें है और अंग्रेजी के पिछे दौड़ रहें है। उन्होने कहा कि हमें भारतीय संस्कृति से प्रेम कना चाहिए। मुझे इस बात का गर्व है कि आदर्श विद्या मंदिर इस कार्य को ठीक ठंग से कर रहे है। कार्यक्रम की अध्यक्षता मनरूपसिह मीणा ने की। इस अवसर पर डॉ. कमला शर्मा, श्रीमति शर्मिला सोनी, सांवरमल जालान, जितेन्द्र भदौरिया ने भी सम्बोधित किया। विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने देश भक्ति गीत प्रस्तुत किये। इसी प्रकार राजकीय ज्ञानीराम हरकचंद सरावगी महाविद्यालय में भी स्वामी विवेकानन्द की जयन्ति मनाई गई। इसी क्रम में राजकीय पीसीबी स्कूल में भी स्वामी विवेकानन्द की जयन्ति को केरियर डे के रूप में मनाया। दानीराम श्र्मा की अध्यक्षता में आयोजित केरियर डे में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदर्शनी, कांफ्रेन्स, निबंध प्रतियोगिता,साहित्य सकलन प्रतियोगिता आयोजित की गई।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY