बालिका शिक्षा के प्रति समर्पित है सरकार – मा. भंवरलाल मेघवाल

SHARE

master

बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं को दी जा रही साइकिलों के वितरण का कार्यक्रम पूर्व शिक्षा एवं श्रम व रोजगार मंत्री एवं स्थानीय विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल के मुख्य आतिथ्य में कस्बे के राजकीय पूनमचन्द बगडिय़ा उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित किया गया। संस्था प्रधान अशोक कुमार शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पूर्व प्रधान व जिप सदस्य पूसाराम गोदारा एवं शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप तोदी थे। कार्यक्रम का आगाज मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर अतिथियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों एवं जनप्रतिनिधियों तथा संस्था प्रधानों को सम्बोधित करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि उनके शिक्षा मंत्री रहने के दौरान यह सुनिश्चित किया गया कि 6 से 14 साल तक का एक भी शिक्षा से वंचित नहीं रह पाये। उन्होने कहा कि प्रदेश में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से दो किमी से अधिक की दूरी तय कर स्कूल पंहूचने वाली बालिकाओं को साईकिल सरकार द्वारा दी जा रही है।

उनके शिक्षा मंत्री रहते हुए इस योजना के प्रथम सत्र में 1 लाख 42 हजार बालिकाओं को तथा वर्तमान सत्र में डेढ़ लाख से अधिक बालिकाओं को प्रदेश भर में साइकिल वितरित की जा रही है। क्षेत्रिय विधायक ने कहा कि पिछड़ा ओबीसी वर्ग में शामिल गुर्जर समुदाय की बालिकाओं को कॉलेज की शिक्षा के लिए सरकार द्वारा स्कूटी दी जा रही है। गत वर्ष राजकीय महाविद्यालय में सात छात्राओं को स्कूटी दी गई थी। मेघवाल ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10 वीं एवं 12 वीं की परीक्षा में जिला स्तर पर प्रथम तीन स्थानों पर रहने वाली बालिकाओं को नगद राशि देकर सम्मानित किया जायेगा तथा वरीयता सूची में प्रथम तीन स्थानों पर रहने वाली छात्राओं को आगे की पढ़ाई के लिए विदेश में पढऩे पर पूरा खर्चा सरकार द्वारा उठाया जायेगा। मेघवाल ने कहा कि बोर्ड की परीक्षाओं में प्रथम एक लाख विद्यार्थियों को पांच सौ रूपये प्रतिमाह छात्रवृति के रूप में सरकार द्वारा दिये जायेंगे। उन्होने बताया कि बालिका शिक्षा के प्रति कटिबद्ध सरकार ने कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय खोलकर ग्रामीण क्षेत्र की स्कूल नहीं जा रही बालिकाओं को शिक्षा से जोडऩे का कार्य किया है। मेघवाल ने कहा कि उनके मंत्री रहते हुए एक लाख शिक्षकों की भर्ती की वितीय स्वीकृति जारी कर उन्होने आरपीएससी को भिजवा दी थी।

जिसके तहत शिक्षकों की भर्तियां की जा रही है। मेघवाल ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न विद्यालयों में उन्होने साढ़े सात सौ संकाय खोले हैं। इस अवसर पर पूर्व प्रधान एवं जिप सदस्य पूसाराम गोदारा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवाओं की आम आदमी तक पंहूच नहीं होने एवं इनकी व्यवस्थाओं में मजबूती नहीं हो तो विकास अधूरा है। गोदारा ने कहा कि सरकार प्रदेश में पानी, बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, परिवहन के विकास के प्रति गम्भीर है। संस्था प्रधान अशोक कुमार शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आगन्तुकों का स्वागत किया। अतिथियों का स्वागत साफा एवं माला पहनाकर किया गया। इस अवसर पर राधेश्याम अग्रवाल, विद्याधर बेनीवाल, इदरीश गौरी, नानूराम ढ़ाका, नारायणसिंह मुंधड़ा, पार्षद बाबूलाल कुलदीप, बजरंग सैन, लक्ष्मीनारायण मेघवाल, जैसाराम प्रजापत, पार्षद महबूब व्यापारी, ऋषिराज फलवाडिय़ा, बनवारी कुल्हरी, बंठी लाखन, बलदेव ढ़ाका, ओमप्रकाश कीलका, विद्याप्रकाश बागरेचा, चम्पालाल तंवर, पार्षद पूसाराम मेघवाल, जेठाराम सारण सहित उपखण्ड अधिकारी फतेह मोहम्मद खान, पुलिस उप अधीक्षक नितेश आर्य, तहसीलदार मूलचन्द लुणियां सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं संस्था प्रधान उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विजय कुमार ढ़ेनवाल ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here