सुजानगढ़ / सुजला जिला बनाने की मांग को लेकर निकाली रैली, सौंपा ज्ञापन

SHARE

सुजानगढ़/सुजला जिला बनाने की मांग को लेकर सुजला जिला बनाओ संघर्ष समिति के नेतृत्व कस्बे के गांधी चौक से उपखण्ड कार्यालय तक रैली निकाली गई। रैली में शामिल जनसमुदाय ने सुजानगढ़ को जिला बनाने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी करते हुए आमजन का ध्यान अपनी ओर खींचा। रैली से पूर्व गांधी चौक में हुई सभा को सम्बोधित करते हुए नगरपालिका अध्यक्ष डा. विजयराज शर्मा, सुजला जिला बनाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष गोपाल सोनी, पूर्व विधायक रामेश्वर भाटी, सुजानगढ़ नागरिक परिषद कोलकाता के अध्यक्ष नोरतनमल सुराणा, नरसाराम फलवाडिय़ा, हाजी शम्सूद्दीन स्नेही, एड. रजिया खान, रामपाल यादव, मांगीलाल पुरोहित, किसान नेता इलियास खां, प्रेम जोशी, महावीर पोसवाल, घनश्यामनाथ कच्छावा, राजूसिंह भाटी, शैलेन्द्र लाटा ने सम्बोधित करते हुए तथ्यात्मक बिन्दूओं के साथ पुरजोर शब्दों में सुजला/सुजानगढ़ को जिला बनाने की अपनी मांग को दोहराया।

सभा का संचालन सुरेन्द्र भार्गव ने किया तथा रैली का संचालन हरिकृष्ण मालपानी ने किया। सभा के बाद रैली के रूप में रवाना हुए जनसैलाब का जोश देखते ही बन रहा था। युवाओं के जोशीले नारों से सुजानगढ़ का आसमान गुंज रहा था। रैली लाडनूं बस स्टैण्ड, गणपति चौक होते हुए उपखण्ड कार्यालय पंहूची। जहां पर उपखण्ड अधिकारी फतेह मोहम्मद खान को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर सुजानगढ़/सुजला जिला बनाने की मांग की गई। रैली में अमराराम चौधरी, शेरसिंह भाटी, रामप्रताप बिडासरा, पार्षद मनीष गोठडिय़ा, ओमप्रकाश लाहोटी, भंवरलाल शर्मा, मो. सलाम, लालाराम जाट, किशोरदास स्वामी, रमेश सोनी, प्रकाश भार्गव, बजरंग फतेहपुरिया, राजन खान, वरूण लड़ा, इदरीश गौरी, एड. रविकान्त सोनी, जसवन्तगढ़ सरपंच कानाराम प्रजापत, पार्षद श्रीराम भामा, भंवरलाल शर्मा, धनराज आर्य, दर्गादत स्वामी, छात्रसंघ अध्यक्ष हितेष जाखड़, पार्षद बंशी गुर्जर, भीकमचन्द बोचीवाल, मुराद खां, नूर मोहम्मद कायमखानी, महफूज खां, प्रेमसुख प्रजापत, हंसराज प्रजापत, बालकृष्ण प्रजापत सहित सैंकड़ों की तादाद में सुजलांचल के लोगों ने शामिल होकर जिला बनाने की मांग को अपना समर्थन दिया। उपखण्ड अधिकारी को सौंपे गये ज्ञापन में बीकानेर रियासत के समय एवं राजस्थान के गठन से पूर्व सुजानगढ़ के जिला होने का उल्लेख करते हुए बताया राजश्री बीकानेर के समय सुजानगढ़ सम्भाग की प्रसिद्ध मण्डी थी।

वर्तमान में तीन नगरपालिका, 211 गांव, 51 ग्राम पंचायतें सुजानगढ़ में हैं। सुजानगढ़ तहसील की जनसंख्या 3.40 लाख है, जिसमें भी सुजानगढ़ नगरपालिका की आबादी एक लाख से ऊपर है। ज्ञापन में बताया गया है कि भारत की जनगणना 2011 के अनुसार देश में 485 वां एवं प्रदेश में 25 वां बड़ा शहर सुजानगढ़ है।, जबकि नागौर, बांसवाड़ा जिले भी उसके बाद हैं। ज्ञापन में सुजानगढ़ की मासिक राजस्व आय एवं स्टाम्प ड्यूटी आय चूरू जिले की समस्त तहसीलों में सर्वाधिक 3.90 करोड़ रूपये है। ज्ञापन में बताया है कि राज्य सरकार द्वारा पहले बी.एस.टी.सी. का प्रशिक्षण केन्द्र एवं बस डिपो स्वीकृत था, लेकिन इस तहसील के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार कर इन सुविधाओं को यहां समाप्त कर अन्यत्र स्थानान्तरित कर दिया गया। ज्ञापन में बताया गया है कि पूर्व में भी मुख्यमंत्री एवं उच्च स्तरीय जिला बनाओ समिति सहित अनेक समितियों को सुजानगढ़/ सुजला जिला बनाने के लिए मांगपत्र भेजे गये हैं।

ज्ञापन के अनुसार सुजानगढ़ नगरपालिका एवं पंचायत समिति, छापर नगरपालिका, सुजानगढ़ कृषि उपज मण्डी, चूरू सांसद रामसिंह कस्वां, पूर्व विधायक रामेश्वर भाटी, पूर्व शिक्षा मंत्री एवं विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल सहित अनेक स्वयंसेवी संस्थाओं एवं जनप्रतिनिधियों सुजानगढ़ को जिला बनाने के प्रस्ताव एवं ज्ञापन राज्य सरकार को भेजे गये हैं। ज्ञापन में विधानसभा चुनाव 2008 के घोषणा पत्र में की गई घोषणा एवं संकल्प को याद दिलाते हुए जनभावनाओं को ध्यान में रखकर सुजानगढ़/सुजला को जिला बनाने के लिए वरीयता प्रदान कर सुजानगढ़ को रियासत काल में जिला होने का उसका पुराना गौरव दिलाने की मांग की गई है।

2 COMMENTS

  1. sujangarh ko jila banane ke liye yahi program hona cahiye, sarkaar ko humari purani mange manni hi hogi, nahi to iska anjam bahut hi bura hoga , sarkar ko sujangarh ko jila banana hi cahiye, sujangarh jila banne ke layak h, sujangarh ka jila banana purani mange h islea sujangarh sujla jila banana cahiye

LEAVE A REPLY