पट्टा महत्वपूर्ण दस्तावेज है, इसे जरूर बनवायें – जिला कलेक्टर

SHARE

District-Collector

जिला कलेक्टर रोहित गुप्ता ने प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत आयोजित शिविर का निरीक्षण किया। शिविर में उपस्थितजनों को सम्बोधित करते हुए जिला कलेक्टर रोहित गुप्ता ने कहा कि आमजन पट्टे के महत्व को समझें। डीएलबी ने आमजन की सुविधार्थ ही पट्टों की दरें तय की है, जिन्हे जमीन की कीमतों से नहीं आंके। गुप्ता ने कहा कि पट्टा का महत्वपूर्ण दस्तावेज है, इसे जरूर बनवायें। जिला कलेक्टर ने अधिकारियों को अधिक से अधिक पट्टे जारी करने के निर्देश देते हुए अभियान के बारे में फीड बैक लिया तथा अभियान के दौरान आने वाले वाली विभिन्न समस्याओं के निराकरण के बारे में विस्तार से चर्चा की।

पूर्व पार्षद तनसुख प्रजापत ने राष्ट्रीय राजमार्ग 65 पर बसी कॉलोनियों के पट्टे जारी नहीं होने के बारे में जानकारी देते हुए इसमें आ रही समस्या को दूर करने की मांग की। पार्षद पवन चितलांगियां व गणेश मण्डावरिया ने भारत हॉस्पीटल के सामने स्थित समाज कल्याण विभाग की जमीन को रैन बसेरा के निर्माण के लिए नगरपालिका को देने की मांग की। उपस्थितजनों ने कच्ची बस्तियों व आवासीय कॉलोनियों का नियमन कर पट्टे जारी करने की मांग की। सुजला जिला बनाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष गोपाल सोनी, ओमप्रकाश लाहोटी, एड. रविकान्त सोनी, एड. विनोद शर्मा, भंवरलाल गिलाण, घनश्यामनाथ कच्छावा, मुकेश मुण्ड, सन्तोष शर्मा, टीकू बिनावरा, बजरंग फतेहपुरिया ने ज्ञापन सौंपकर सुजला जिला के लिए राज्य सरकार को अभिशंषा भेजने की मांग की। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष डा. विजयराज शर्मा, शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप तोदी, पार्षद हाकम अली खां, गिरीश महाराज, पवन महेश्वरी, लीलाधर खण्डेलवाल, बंशी गुर्जर, हनुमानमल भींचर, विद्याप्रकाश बागरेचा सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

उपखण्ड अधिकारी फतेह मोहम्मद खान, अधिशाषी अधिकारी डा. भगवानसिंह राठौड़, सीआई रामप्रताप विश्नोई भी मौजूद थे। नगरपालिका के कार्यालय सहायक अखिलेश पारीक ने बताया कि अभियान के तहत आयोजित शिविर में 8 कृषि भुमि एवं 5 स्टेट ग्रांट एक्ट के तहत पट्टे जारी किये गये। जिनसे साढ़े चार लाख रूपये की नगरपालिका को आय हुई। पारीक ने बताया कि शिविर के दौरान उमेश धाभाई, जयचन्द, बिरधीचन्द, रोहिताश्व, मुन्नालाल मीणा, गंगाराम माली, कमलेश शर्मा, रघु सहित पानी-बिजली के कर्मचारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here