सुख शान्ति, सन्तुष्टि, आत्म शुद्धि एवं वर्ष भर हुई त्रुटियों को मानने का पर्व पवित्रोत्सव

SHARE

दक्षिण भारतीय वास्तु कला के संवाहक वेंकटेश्वर मन्दिर में चल रहे पवित्रोत्सव में सोमवार सुबह भगवान की पूजा अर्चना के बाद तिरू आराधन की गई। इसके बाद मन्दिर परिसर में भगवान की सवारी निकाली गई। तत्पश्चात यजमानों को यज्ञ का संकल्प दिलवाया गया और उसके बाद हवन शुरू हुआ। हवन के पश्चात भगवान को भोग लगाया गया एवं गोष्ठी प्रसाद का वितरण किया गया। शाम को हवन के पश्चात दैनिक पूर्णाहूति की गई। उसके बाद वापस भगवान की सवारी निकाली गई और उसके बाद आरधन करने के बाद प्रसाद वितरण किया गया।

मुख्य यजमान नव्यांश एवं मंजूदेवी जाजोदिया तथा सामोली मल्होत्रा, रविश मल्होत्रा, रामोली मल्होत्रा, राम बाबू चाण्डक, निर्मलकुमार खलवाणियां, सत्यनारायण अग्रवाल, चंचल दुधोडिय़ा, छगनलाल बोचीवाल, परमानन्द मंगलुनिया, भंवरलाल पंवार, सन्तोष देवी प्रजापत, कमलादेवी प्रजापत, भगवती देवी बागड़ा, विमलादेवी शर्मा सहित अनेक महिला एवं पुरूष श्रद्धालुओं ने पवित्रोत्सव के दौरान होने वाले धार्मिक आयोजनों मे सोमवार को शामिल होकर पुण्य लाभ लिया। वेंकटेश्वर फाऊण्डेशन की ट्रस्टी श्रीमती मंजू जाजोदिया ने बताया कि पूर्ण विधिविधान के साथ 28 नवम्बर तक चलने वाले इस विष्णु महायज्ञ में अनेक धार्मिक आयोजन सम्पन्न हो रहे हैं। जाजोदिया ने बताया कि विश्व कल्याण, सुख शान्ति, सन्तुष्टि, आत्म शुद्धि एवं वर्ष भर हुई त्रुटियों के लिए पवित्रोत्सव का आयोजन किया जाता है।

पवित्रोत्सव के दौरान होने वाले धार्मिक आयोजनों को सफलतापूर्वक सम्पन्न करवाने में मन्दिर के व्यवस्थापक मोहनसिंह राठौड़, पं. रमेश, पं. अनिल, पं. अशोक, नथमल शर्मा, कमलसिंह, शिवभगवान शर्मा, मुकुनसिंह, पप्पूसिंह, चम्पालाल, बजरंगलाल, नानूराम, पदमाराम, धनराज जुटे हुए हैं। दक्षिण भारतीय विद्वान पंडित कृष्ण कुमार भट्टर अपने विद्वान पंडितजनों के साथ पवित्रोत्सव के दौरान होने वाले धार्मिक आयोजनों को पूर्ण विधि-विधान एवं वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ सम्पन्न करवा रहे हैं।

4 COMMENTS

  1. SUJANGARH KO JILA BANAYA JAYE, SUJANGARH PURANE TIME MAIN JILA THA, LEKIN SARKAR NE SUJANGARH SE JILE KA NAME HATA DIYA GAYA , ISLLEA SABHI SUJANGARH VASIO SE NIVEDAN H KI SUJANGARH KO JILA BANANE MAIN AAPNA YOOGDAN DE .

  2. SUJANGARH KA NAME HATAKAR DIDVANA KA NAME JILE KI NAMO ME AA GYA H, YAH SARASER SARKAR KI GALTI H, SUJANGARH PURA KA PURA JILA BANENE KE LAYAK H, ISLEA SABHI SE NIVEDAN H KI SUJANGARH KO JILA BANANE KE LIYE AAPNA PURA KA PURA YOGDAAN DE ………………

  3. ASHOK JI GAHLOT KO POST CARD LIKHE, 1 RS. MAIN 2 POST CARD AATE H TO , AAP SABHI ASHOK JI GAHLOT KO 2 POST CARD JARUR BHEJE……………………….

    NAVEEN KUMAR FALWARIA, SUJANGARH – 331507

  4. sujangarh ko jila banane main aapna yoogdaan de , sabhi se nivedan h ki sujangarh ko jila banane main aapna aamulya time de, thinkyou, iske liye padhte rahiye sujangarh online……………………….

    Naveen kumar falwaria, naya bazar sujangarh-331507

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here