दाम्पत्य जीवन का महोत्सव है करवा चौथ – डा. विजयराज शर्मा

SHARE

स्थानीय गेस्ट हाऊस में गत दिवस बैंगलोर प्रवासी सरला-रविन्द्र सेठिया के संयोजकत्व में लालचन्द जयचन्दलाल सेठिया के सौजन्य से करवा चौथ का पर्व समारोहपूर्वक मनाया गया। पार्षद मधु बागरेचा एवं विद्याप्रकाश बागरेचा के प्रयासों से आयोजित समारोह में सैंकड़ों महिलाओं ने सामूहिक रूप से करवा चौथ पूजन किया। देश में नारी अस्मिता, नारी सम्मान, समर्पण और दाम्पत्य प्रेम के पर्व को पूर्ण विधिविधान पूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष डा. विजयराज शर्मा ने कहा कि करवा चौथ दाम्पत्य जीवन का महोत्सव है। इससे पति-पत्नि के बीच प्रेम, समर्पण और सौहार्द बढ़ता है। सुजानगढ़ नागरिक परिषद के अध्यक्ष कोलकाता प्रवासी नोरतनमल सुराणा ने करवा चौथ को भारतीय परम्परा का अद्भुत त्यौंहार बताते हुए कहा कि करवा चौथ समाज व परिवार को नवीन प्रेरणा देता है।

इस अवसर पर नोरतनमल सुराणा, डा. विजयराज शर्मा, साहित्यकार घनश्यामनाथ कच्छावा, जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय की असिस्टेंट प्रोफेसर डा. वन्दना कुण्डलिया सामाजिक कार्यकर्ता विद्याप्रकाश बागरेचा, उद्घोषक शिवकुमार तिवाड़ी का शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। अतिथियों का स्वागत कमल कुमार फूलफगर, इन्द्रचन्द स्वामी, रमेश पारीक, धर्मचन्द बागरेचा, बजरंग नाणनौत, राजेश सुन्दरिया, श्यामसुन्दर जडिय़ा, पवन कुमार स्वामी, राजेन्द्र फुलफगर ने किया। समारोह में आयोजित मेहन्दी, सौलह श्रृंगार और नृत्य प्रतियोगिताओं में पिंकी पंवार प्रथम, पूजा स्वामी व हर्षा द्वितीय, सौलह श्रृंगार में समात सोनी प्रथम, द्वितीय स्नेहलता सोनी तृतीय मधु डोसी एवं नृत्य प्रतियोगिता में सुनीति डोसी प्रथम, अभिलाषा अरोड़ा द्वितीय, जिज्ञासा जोशी एवं मेघना भुतोडिय़ा तृतीय रही। प्रतियोगिता के निर्णायक अरूणा सोनी, कविता नाहटा, शर्मिला सोनी थे। पार्षद मधु बागरेचा ने आभार व्यक्त किया। संचालन शिवकुमार तिवाड़ी ने किया। विद्याप्रकाश बागरेचा ने धरती धोरां री पर नृत्य की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर महिलाओं ने सामूहिक मांगलिक गीत गाये और करवा चौथ की कथा का श्रवण किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY