मेघवाल ने किया झंवर बालिका विद्यालय का उद्घाटन

SHARE

स्थानीय नया बास स्थित गणेशीराम झंवर बालिका माध्यमिक विद्यालय का पूर्व शिक्षा मंत्री एवं विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल ने पट्ट का अनावरण कर किया। इस अवसर पर आयोजित समारोह में उपस्थितजनों को सम्बोधित करते हुए विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल ने बालिका शिक्षा पर जोर देते हुए अधिक से अधिक बालिकाओं को उच्च शिक्षा दिलाने का आह्वान किया। नगरपालिका अध्यक्ष डा. विजयराज शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में जिप सदस्य पूसाराम गोदारा, राधेश्याम अग्रवाल, भामाशाह नथमल झंवर, नगर कांग्रेस अध्यक्ष रामवतार शर्मा, प्रतिपक्ष नेता रामनारायण प्रजापत, जिला प्रवक्ता इदरीश गौरी, एसडीएमसी के पूर्व अध्यक्ष सत्यनारायण चाण्डक, मेघराज सांखला, नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष ब्रह्मप्रकाश शर्मा, महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष सरला पाण्डे, सहवृत सदस्य लालचन्द शर्मा, अयूब नसवाण आदि मंचासीन थे।

समारोह में उपखण्ड अधिकारी फतेह मो. खान, तहसीलदार मूलचन्द लुणियां, पुलिस उपाधीक्षक नितेश आर्य, हाजी गुलाम सदीक छींपा, पार्षद मनीष गोठडिय़ा, श्रीराम भामा, परमेश्वरलाल करवा, ब्लॉक सीएमएचओ डा. महेश वर्मा, पार्षद प्रतिनिधि नानू खां, पार्षद बाबूलाल कुलदीप, महबूब व्यापारी, भंवरलाल मोयल, करणीदान मंत्री प्रधानाचार्य अशोक कुमार शर्मा सहित अनेक गणमान्यजन उपस्थित थे। अतिथियों का स्वागत प्रधानाचार्य शांतिप्रकाश जांगीड़, भामाशाह नथमल झंवर, ओमप्रकाश गुलेरिया, वैद्य ओमप्रकाश चोटिया, मालचन्द रूंथला, बीरबलसिंह, हरिसिंह, डा. रविन्द्र कुमार, नन्दलाल सोमानी, श्रीनिवास चोटिया, अयाज अली, रमेश स्वामी, हंसराज सोनी, बन्नाराम जाखड़, आसकरण लाहोटी, सुरेन्द्र महरिया, मंजुला चौधरी ने माला पहनाकर एवं साफा बांधकर किया। समारोह में प्रतिभावान छात्र-छात्राओं एवं शतप्रतिशत परिक्षा परिणाम देने वाले शिक्षकों को प्रतीक चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया।

मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष अतिथियों ने दीप प्रजवल्लन कर समारोह का शुभारम्भ किया। समारोह के दौरान मा. भंवरलाल मेघवाल एवं संचालन कर रहे हाजी शम्सूद्दीन स्नेही सहित अनेक लोगों की पुरानी यादें ताजा हो गई। मा. भंवरलाल मेघवाल ने इस विद्यालय अध्यापन का कार्य किया है और यहीं से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की थी। समारोह में छात्राओं ने सरस्वती वंदना, स्वागत गीत आदि की प्रस्तुतियां दी। संचालन शिक्षाविद् हाजी शम्सूद्दीन स्नेही ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here