पटेल और गांधी की धरती पर साम्प्रदायिक तत्व पैदा हो गये – मा. भंवरलाल मेघवाल

SHARE

स्थानीय कांग्रेस कार्यालय में लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयन्ति एवं लौह महिला पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की पुण्य तिथी मनाई गई। शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप तोदी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व मंत्री एवं विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि जिस गुजरात की धरती पर महात्मा गांधी व सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसी महान विभुतियां हुई है, उस धरती पर अब साम्प्रदायिक तत्व पैदा हो गये हैं। मेघवाल ने कहा कि इन्दिरा गांधी ने बांग्लादेश का निर्माण कर भुगोल ही बदल दिया। उन्होने दिल्ली रैली की उद्देश्य बताते हुए कहा कि जब पूरी दुनिया मंदी की चपेट थी तथा पूरे विश्व में बड़ी-बड़ी कम्पनियां बंद हो रही थी तथा नौकरियां खत्म हो रही थी, तब हमारे अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह की नीतियों के कारण देश में एक भी कम्पनी में तालाबंदी नहीं हुई तथा नौकरियां कम होने के स्थान पर नई नौकरियों का सृजन कर लाखों बेरोजगारों को रोजगार दिया गया। मेघवाल ने कहा कि जो भाजपा आज एफडीआई का विरोध कर रही है, वही भाजपा अटलबिहारी वाजपेयी के शासन में एफडीआई लाने को तैयार थी।

उन्होने कहा कि एफडीआई से किसान और व्यापारी के मध्य बिचौलिये समाप्त हो जायेंगे। उन्होने कहा कि जब कोयले का खनन हुआ ही नहीं तो घोटाला कहां से हो गया। मेघवाल ने कहा कि जब कोयले के ब्लॉक आवंटन के लिए निलामी प्रक्रिया अपनाने के लिए प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह ने कहा था, तब प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे सहित भाजपा शासित प्रदेशों के सभी मुख्यमंत्री निलामी नहीं कराने की मांग पर अड़ गये। उन्होने ए.राजा, सुरेश कलमाड़ी के नाम गिनवाते हुए कहा कि घोटाला करने वालों को कांग्रेस ने जेल भेजा है। भाजपा के पूर्व अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण के बाद अब राष्टीय अध्यक्ष नितिन गडकरी पर फर्जी कम्पनियां खोलकर करोड़ों रूपये के घोटाले करने का आरोप है। फर्जी कम्पनियो में गडकरी के ड्राईवर और रसोईया तक डायरेक्टर है। मेघवाल ने कहा कि कांच के महल में रहने वाले पत्थर नहीं फैंका करते। उन्होने कहा कि चार साल के कांग्रेस के शासन में प्रदेश सरकार के एक भी मंत्री पर कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं है।

मेघवाल ने दिल्ली रैली के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत से एक वाहन लेकर जायेंगे। पूर्व प्रधान पूसाराम गोदारा, राधेश्याम अग्रवाल, हाजी गुलाम सदीक छींपा, मेघराज सांखला ने सरदार वल्लभ भाई पटेल व पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी को याद करते हुए देश की सभी रियासतों के एकीकरण, बैंकों के राष्ट्रीयकरण, हरित क्रान्ति, परमाणु परीक्षण, सीमाओं पर पुख्ता इंतजाम करने, देश की अखण्डता व एकता के लिए बलिदान करने आदि ऐतिहासिक निर्णय लेने व इतिहास के साथ – साथ बांग्लादेश का निर्माण कर भुगोल बदलने वाले लौह पुरूष व लौह महिला के तौर पर याद किया जाता रहेगा। बैठक में जिला प्रवक्ता इदरीश गौरी, नगर कांग्रेस अध्यक्ष रामवतार मंगलहारा, देहात अध्यक्ष कमला गोदारा, पार्षद पूसाराम मेघवाल, संजय ओझा, अयूब नसवाण, गोपाल माली, नरसाराम फलवाडिय़ा, श्रीराम भामा, जिला अध्यक्ष सरला पाण्डे, उषा बगड़ा, लालचन्द बगड़ा, प्रतिपक्ष नेता रामनारायण प्रजापत, युनूस खां, धर्मेन्द्र कीलका, जगदीश भार्गव, करणीदान चारण, रजनीश कौशिक, बजरंग सैन, सिकन्दर अली खिलजी, बाबूलाल कुलदीप, महबूब व्यापारी, बशीर फौजी सहित अनेक कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY