राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत 10 लाख के चैक वितरित

SHARE

स्थानीय कृषि उपज मण्डी परिसर में आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम में विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल ने राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत प्रभावितों को दस लाख रूपये से अधिक राशि के सहायता चैक सौंपे। प्रधान नानीदेवी गोदारा के सानिध्य में मण्डी अध्यक्ष राजूदेवी ढ़ाका की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में उपस्थित किसानों को सम्बोधित करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि ग्राम पंचायत एवं ग्राम सभा में किसानों के हितार्थ योजनाओं के बारे में जानकारी दी जानी चाहिये, जिससे अधिक से अधिक किसान योजनाओं को लाभ ले सके। मेघवाल ने कहा कि सहकारिता विभाग द्वारा बिना ब्याज के लोन दिया जाता है। जिसका लाभ किसानों को अपनी फसल की बुआई के दौरान लेना चाहिये। मेघवाल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क पशु दवा वितरण योजना के तहत 87 प्रकार की पशुओं की दवाईयां नि:शुल्क दी जा रही है।

उन्होने पशु बीमा करवाने का आह्वान करते हुए बताया कि राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत विगत दो सालों में कृषि मण्डी द्वारा करीब साठ लाख रूपये की सहायता राशि का वितरण किया जा चुका है। पूर्व प्रधान व जिप सदस्य पूसाराम गोदारा ने विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल के मार्फत राज्य सरकार से राजीव गांधी कृषक साथी योजना की मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि संकट काल में सहायता मिलना एक बड़ा काम है। जब तक किसान व गांव मजबूत नहीं होगा, तब तक देश व प्रदेश मजबूत नहीं होंगे। गोदारा ने साण्डवा एवं कातर में कृषि मण्डी के सब यार्ड बनाने की मांग भी की। गोदारा ने मण्डी की आय बढ़ाने के लिए किसानों एवं व्यापारियों से अपील की। कार्यक्रम में पूर्व मण्डी अध्यक्ष सुरजाराम ढ़ाका, मण्डी अध्यक्ष प्रतिनिधि लालचन्द ढ़ाका, मण्डी उपाध्यक्ष प्रदीप तोदी, कांग्रेस जिला अध्यक्ष भंवरलाल पुजारी, राधेश्याम अग्रवाल आदि मंचासीन थे। अतिथियों का स्वागत धर्मेन्द्र कीलका, दीपाराम सारंग, हनुमान प्रजापत, लक्ष्मीनारायण मेघवाल, सुगनाराम मेघवाल ने माला पहनाकर किया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए मण्डी सचिव सुरेन्द्र कुमार बांगड़वा ने बताया कि कृषि कार्य करते समय मृत्यु होने एवं अंग भंग होने पर राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत 17 प्रभावितों को दस लाख दस हजार रूपये की सहायता राशि के चैक वितरित किये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here