भंवरलाल मेघवाल के भागीरथी प्रयास से होगा सपना साकार

SHARE

आपणी योजना के द्वितीय चरण का शिलान्यास करने कल रविवार को आ रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रस्तावित कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रस्तावित यात्रा को लेकर पूर्व शिक्षा मंत्री एवं स्थानीय विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल पूरे जोर-शोर से जोश-ओ-खरोश के साथ अपने कार्यकर्ताओं की टीम के साथ जुटे हुए हैं। तत्कालीन विधायक फूलचन्द जैन द्वारा सुजानगढ़ की जनता के लिए खेतान परिवार एवं राज्य सरकार के संयुक्त सहयोग से खेतान जल प्रदाय योजना के माध्यम से लाडनूं से पानी लाने के करीब चार दशक बाद वर्तमान विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल आपणी योजना के माध्यम से इन्दिरा गांधी नहर का पानी ला रहे हैं।

चार दशक पूर्व लाये गये लाडनूं के पानी में दिनो-दिन बढ़ती फ्लोराईड की मात्रा एवं लगातार सुखते कुओं ने करीब एक दशक पूर्व ही क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों एवं बुद्धिजीवियों को पीने के पानी के लिए दूसरे इंतजाम करने के लिए सोचने-विचारने के लिए संकेत देने शुरू कर दिये थे। जिन्हे समझते हुए मा. भंवरलाल मेघवाल ने अपने पूर्व कार्यकाल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ मिलकर आपणी योजना के द्वितीय फेज के लिए जर्मनी सरकार के साथ एक समझौता कर चार सौ करोड़ रूपये स्वीकृत करवाये थे। लेकिन समय के फेर के साथ जनता का मन बदला और प्रदेश में सता बदली। प्रदेश में सता बदलने के साथ ही सुजानगढ़ के लोगों को भाग्य दुर्भाग्य में बदला। जर्मनी सरकार के सहयोग से स्वीकृत आपणी योजना के द्वितीय फेज के चार सौ करोड़ की फाईल नीचे दब गई और उस पर गर्द की परत चढ़ती गई। फाईल पर चढ़ी गर्द की परत को समय के बदलने के साथ पुन: कांग्रेस के सता में आने एवं मा. भंवरलाल मेघवाल के विधायक बनने पर झाड़ा गया और फाइल को आगे बढ़ाते हुए काम को शुरू करने पर विचार-विमर्श शुरू हुआ तो योजना की लागत आई साढ़े आठ सौ करोड़ रूपये।

साढ़े आठ सौ करोड़ की प्रारम्भिक लागत से शुरू होने वाली यह योजना जब अपनी पूर्णता को प्राप्त करेगी तब तक इस पर दो हजार करोड़ रूपये से अधिक खर्च हो जायेंगे। इतनी बड़ी धनराशि की योजना बनने पर मा. भंवरलाल मेघवाल के अथक प्रयासों के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नाबार्ड से आपणी योजना के द्वितीय फेज के लिए ऋण लेने के प्रयास शुरू किये, प्रयास रंग लाये और नाबार्ड ने इस योजना के लिए ऋण देने की अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी। योजना के लिए रूपयों की व्यवस्था होने के बाद योजना के क्रियान्वती के लिए राष्ट्रीय व अन्तराष्ट्रीय स्तर पर निविदायें जारी की गई। निविदाओं के जारी होने के बाद अब कल रविवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शिलान्यास करने के साथ ही योजना पर काम शुरू हो जायेगा और सुजानगढ़ व रतनगढ़ की जनता का बहुप्रतिक्षित इंतजार समाप्ति की ओर उल्टी गिनती के साथ शुरू हो जायेगा।

मा. भंवरलाल मेघवाल के प्रयासों का ही परिणाम है कि सुजानगढ़ की जनता को आने वाले समय में नहर का मीठा पानी पीने को मिलेगा और लाडनूं के फ्लोराईड युक्त पानी से निजात मिलेगी। मीठे पानी के मिलने के साथ फ्लोराईड युक्त पानी से होने वाली बिमारियों से निजात मिलेगी। पूर्व विधायक फूलचन्द जैन के बाद भागीरथ बने मा. भंवरलाल के सद्प्रयासों से अब शीघ्र ही सुजानगढ़ की जनता को नहर का मीठा पानी पीने को मिलेगा।

1 COMMENT

  1. master G matti lagi file to sade chaar sow croor Rs to pass hogey cm sahab bhi udhgatan karke chale jaengey kya wacky me
    Sujanghar ko nahar ka pani milenga
    Ya file o me nahar banegi ya sade chaar
    Sow croor kam padenge ………..aap ne kabi
    Sujanghar ki halat nahi sudari to ab kya kar lo ge kyu ki ab aap ke jane ka samay
    Aagaya hai ……….. Sab ko malum hai uper se niche tak sab chuor chuor mo c re bhai
    Hai jab jaipur se RS nikle ga na to Sujanghar pahuchte pachuchte wo pesa
    Banjenga sirf sade chaar Rupaya to kya
    Khawab me nahar ka pani piye ge are master G aap ek pani ki tanki giri hui ko nahi banwa sakte pura Duliya bass pani se marhum hai to kese yakin karle ki aap
    Ke hote huwe Sujanghar citi me vikas
    Ya Sujanghar ki pargati unnati ho sakti hai………..haa ek kam aap ne kiya pure
    Sujanghar ke ward me aap Ke name ki takti jarur bana ke lagwa di master G 5 saal ke liye aate ho fir chale jate kyu dusri aap kyu nahi jeet pate kabi socha hai
    Sujanghar ki janta ke samne agr koi sand banta hai to us ko kheth me ek baar
    Hi gusne deti hai dusri baar to gay bana
    Deti………..
    Kyu chunaw

LEAVE A REPLY