हजरत बदरूद्दीन शाह के तीन रोजा उर्स मुबारक का कुल शरीफ रविवार को देर शाम तक

SHARE

हजरत बदरूद्दीन शाह के तीन रोजा उर्स मुबारक का कुल शरीफ रविवार को देर शाम तक हुआ। जौहर की नमाज के बाद जायरीनो का आना शुरू हो गया। सैकड़ो लोगो ने हजरत बदरूद्दीन शाह एवं उनके शागिर्द हजरत दीन मोहम्मद शाह के मजारात पर फुल, सीरनी एवं चादरे चढाई। अकीदत मंद हजरात ने मन्नते मांगी एवं फातेहा पढकर खिराजे अकीदत पेश किया।

इस अवसर पर पीरे तरीकत सैयद जहूर अली के सानिध्य व काजी ए शहर हाजी मो. आरीफ की सदारत में हुए समापन सत्र में खादिमे दरगाह अलहाज शमीम अख्तर, काजी अलताफ हुसैन, हाफिजो कारी अब्दुल सलाम, कारी मोहम्मद रमजान, बिलाल काजी, मोहम्मद हुसैन काजी, मौलाना जावेद दय्या, हाफिज अमजद अली, मो. अनवर मौलानी, मो. इलियास, नाजिर हुसैन द्वारा अल्लाह ताअला की शान में हम्दो सना, नबी ए करीम को नाते पाक का नजराना एवं हजरत बदरूद्दीन शाह की जीवनी पर आधारित मनकबत की प्रस्तुति देकर जलसे को परवान चढाया।

नमाजे असर क बाद तकिया परिसर में सैकड़ो लोगो की मौजूदगी में दुरूदो सलाम पढा गया एवं सरपरस्त सैयद जहूर अली ने अम्रो अमान व खैरोबरकत की दुआ की तथा खुश्बुदार जल की छीटे उछाल कर कुल शरीफ की रस्म अदा की। उर्स संयोजक हाजी शम्सुद्दीन स्नेही ने जायरीनो , उलमाओं व कार्यक्रम में शिरकत करने वाले सभी लोगो व प्रशासन का आभार व्यक्त किया। इन्तेजामिया क मेटी के युनुस खां, हाजी मदन, सदर इलियास, असगर राइन, इकबाल मोलानी, शाहिद महबुब, अब्दुल रऊफ अत्रारी, अनवर राईन, शाकिर रज्जा, इरफान, उमरदीन पिनारा, हाकम अली जोधा, कमरूद्दीन , इमरान व अली हसन आदि ने उर्स की कामयाबी के लिए महत्वपूर्व भूमिका निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here