उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन देते हुए शिक्षक

SHARE

 राजस्थान शिक्षक संघ के प्रदेश मंत्री नेमीचंद बेनीवाल के नेतृत्व में उपखण्ड अधिकारी को अध्यपको को बी एल ओ कार्य से मुक्त रखने की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौपा। संघ के अध्यक्ष रामनारायण पूनियां ने बताया कि अनिवार्य बाल शिक्षा अधिनियम के अन्तर्गत शिक्षको को बी एल ओ कार्य से मुक्त किया जावे। संघ के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष त्रिलोकचंद किलका ने बताया कि इस सम्बंध में न्यायलय ने फैसल दिया है कि शिक्षको को जनगणना व चुनाव सम्पन्न करवाने के अलावा अन्य कार्य न करवाएं जाए।

संघ के शिक्षक नेता बनवारीलाल कुल्हरी ने उपखण्ड अधिकारी को बताया कि जुलाई महा में साटीएस कार्य व वर्ष प्रर्यन्त चलने वाले प्रवेश कार्यक्रम के कारण बी एल ओ कार्य करने पर शिक्षण कार्य प्रभावित होता है। शिक्षण कार्य को ध्यान में रखते हुए आगामी बी एल ओ कार्य का शिक्षक बहिष्कार करेगे। किसी भी सुरत में शिक्षक बी एल ओ कार्य नही करेगे। कुल्हरी ने बताया कि वर्तमान में कार्यरत बी एल ओ का मानदेय गत दो वर्षो से बकाया चल रहा है।

उनके भूगतान के लिए उपखण्ड अधिकारी महोदय ने 5-7 दिन में ही भूगतान करने का संघ को आश्वासन दिया। संघ द्वारा बी एल ओ कार्य के लिए विद्यालय समय में आधे दिन पूर्वाहनया मध्याहन की छुट दी जावे ताकि कार्य समदित किया जा सके उसके लिए अधिकारी महोदय ने डी ओ से वार्ता करके बी एल ओ को बताया जावेगा। इस अवसर नेमीचंद प्रजापत, अनिल पुरोहित, भंवरलाल , शंकरलाल , सुरेन्द्र कुमार, भंवरलाल बुगालिया, दीपाराम, सुनील कुमार, ओमप्रकाश, सुखाराम, रामलाल डूडी, चैनरूप चौधरी, रामचन्द्र , सम्पत शर्मा, राजेन्द्र स्वामी, प्रकाश स्वामी, केशरीसिह, सोहन पोटलिया, बजरंगलाल, मोतीलाल, भींवाराम आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here