तेहनदेसर में 132 जीएसएस के सामने जाम लगाते हुए किसान

SHARE

सिंचित क्षेत्र में बिजली की बार बार कटौति से परेशान होकर बुधवार को हजारो किसानो ने तेहनदेसर 132 जीएसएस विद्युत सब स्टेशन पर प्रदर्शन कर विद्युत अधिकारियों का घेराव कर पांच घण्टे तक सुजानगढ नोखा मार्ग को अवरूद्ध कर छह घण्टे बिजली देने की मांग की। सुबह साढे ग्यारह बजे ही विद्युत कार्यालय के सामने एक दर्जन गांवो के किसानो ने दो तीन घण्टे बिजली सप्लाई देने से किसानो की मूंगफली की फसले निरन्तर खराब होती जा रही है। विद्युत आपूर्ति की अव्यवस्था को लेकर विद्युत कार्यालय का घेराव व प्रदर्शन व चक्का जाम करने से एक किलो मीटर की लम्बी दूर में वाहनो की कतार लग गई। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की बसो व निजी बसो में यात्रा कर रहे यात्रियो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

सरकार की विद्युत व्यवस्था की गलत नीतियों के विरोध में किसानो ने जमकर नारे बाजी करते हुए विद्युत कार्यालय का घेराव व प्रदर्शन किया। घेराव प्रदर्शन व रास्ता जाम की सूचना मिलते ही उपखण्ड अधिकारी सी एल मीणा, तहसीलदार मूलचंद लूणिया, विद्युत विभाग के सहायक अभियंता जसवन्तसिह मौके पर पहुंचे। आक् ोशित किसानो ने उक्त अधिकारियों का घेराव करते हुए छह घण्टे बिजली देने की मांग करते हुए किसानो ने बताया कि बार बार ट्रीपिंग के कारण किसानो की फसले चौपट हो रही है ओर किसान त्रस्त है। उपखण्ड अधिकारी ने किसानो की बात धैर्य से सुनकर उच्चाधिकारियों को स्थिति से अवगत करवाया। इस बीच पूर्व प्रधान पुसाराम गोदारा भी मौके पर पहुंच गये। पूसाराम गोदारा ने प्रदर्शन कारी किसानो को समझाने का प्रयास किया लेकिन किसान अपनी बातो पर अड़े रहे ओर छह घण्टे बिजली देने की बात लिखित में देने की मांग की।

आखिरकार किसानो के आक्रोश के सामने सरकार के नुमाइन्दे व अधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों से बातचीत कर सारी स्थिति से अवगत करवाया। उपखण्ड अधिकारी सी एल मीणा ने किसानो की मांग को जिला कलक्टर व विद्युत विभाग के उच्चाधिकारियो को बताकर स्थिति के बारे में जानकारी दी। उपखण्ड अधिकारी व पुसाराम गोदारा ने किसानो से वार्ता करते हुए कहा कि पांच घण्टे सरकार किसानो बिजली उपलब्ध करवायेगी ओर पंाच घण्टे बिजली के दौरान ट्रीपिंग भी नही होगी तथा तेहनदेसर जी एसएस का लॉड बीस दिनो में कम करने का आश्वासन देते हुए बताया कि लॉड कम होने के बाद छह घण्टे बिजली दी जायेगी। लेकिन बिजली से त्रस्त किसानो ने एक भी नही सुनी ओर विरोध करते हुए बार बार आश्वासन से काम नही चलेगा ओर लिखित में देने पर ही लोगो का आक्रोश शांत हो सकता है।

उपखण्ड अधिकारी ने किसानो की मांग पर हस्तलिखित आश्वासन दिया कि शीघ्र पांच घण्टे बिजली देने तथा बीस दिनो में लॉड कम कर देने का आश्वासन दिया। किसानो ने एक कर्मचारी की शिकायत उसे हटाने की मांग की जिस पर उक्त कर्मचारी कल्याणसिह को उपखण्ड अधिकारी ने एपीओं करने का आदेश मौके पर दिये। इस धरने प्रदर्शन में कृषि ऊपज मंडी के चैयरमैन प्रतिनिधि भंवरलाल ढाका, तेहनदेसर सरपंच खेताराम जाखड़, हीरालाल प्रजापत, मनीराम नाई, उम्मेदसिह सहित अनेक किसानो ने बताया कि तीन से पांच घण्टे बिजली नही देने से किसानो की फसले चौपट हो रही है। मालासर, अमरसर, कातर, गिरवरसर, सडू, साजनसर, तेहनदेसर, नोडिय़ा, कातर छोटी, कल्याणसर, पारेवड़ा, ईयारा, बम्बू सहित गांवो के हजारो किसान ने धरना प्रदर्शन किया।

इनका कहना:-
तेहनदेसर में हजारो किसानो ने बिजली की मांग को लेकर बुधवार को रास्ता अवरूद्ध कर धरना प्रदर्शन करने की सूचना पर मौके पर पहुंचा । मौके पर हजारो किसान 132 जीएसएस के सामने धरना प्रदर्शन कर पांच घण्टे बिजली उपलब्ध करवाने की मांग कर रहे थे। उच्चाधिकारियो को सारी स्थिति से अवगत करवाते हुए किसानो की समस्या को बताया। बिजली विभाग के उच्चाधिकारियो से वार्ता कर किसानो को पांच घण्टे बीना ट्रीपिंग के बिजली की सप्लाई देने की सहमती पर किसानो को आश्वस्त करने पर धरना प्रदर्शन व रास्ता खुलवाया। किसानो की मांग पर कर्मचारी कल्याणसिह को एपीओं कर दिया गया है।
सी एल मीणा, उपखण्ड अधिकारी सुजानगढ।

पिछले तीन चार दिनो किसानो को पर्याप्त मात्रा में बिजली उपलब्ध नही हो रही है जिससे किसानो की फसले प्रभावित होने से क्षुब्ध किसानो ने बुधवार को धरना प्रदर्शन कर बिजली उपलब्ध करवाने की मांग है । मैने किसानो की समस्या को सरकार के उच्चाधिकारियो को अवगत करवाते हुए पांच घण्टे बिजली उपलब्ध करवाने व तेहनदेसर जीएसएस लॉड आगामी बीस दिनो में कम करवाने के आश्वासन पर किसानो को शांत किया है। अगर सरकार समय रहते किसानो की वाजिब मांग पर ध्यान नही देगी तो किसान का आक्रोश भड़क सकता है।
पुसाराम गोदारा, पूर्व प्रधान व जिला परिषद सदस्य चूरू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here