एक गर्भवती महिला की सरकारी अस्पताल ले जाते वक्त मौत

SHARE

शनिवार को दोपहर को एक गर्भवती महिला की सरकारी अस्पताजल ले जाते वक्त मौत होने के कारण गुस्साये परिजनों ने सरकारी अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक के बस स्टेण्ड स्थित निजी अस्पताल में जमकर तोड़ फोड़ कर चिकित्सक के खिलाफ अपना रोष प्रकट किया। परिजनों का आरोप है कि डॉ. ने मृतका को मरने के बाद सरकारी अस्पताल भेजा ओर उसके एक इंजेक्षन लगाने के बाद उसकी तबीयत बिगड़ी। मृतका के जेठ मोहम्मद रफिक पुत्र सुलेमान खां ने बताया कि मृतका मदीना पत्नि बशीर खां निवासी होली धोरा (25) जिसका विगत दो माह से डॉ. एसएन जांगीड़ के पास ईलाज चल रहा था।

जिसे कि शनिवार को प्रसव पीड़ा होने पर उसके पीहर दड़ीबा से यहां पर करीबन 4.30 बजे बस स्टेण्ड स्थित डॉ. के निजी अस्पताल में लाया गया। जहां पर डॉ. व उनकी पत्नि डॉ. नीलम जांगीड़ दोनों मौजूद थे। उन्होंने मृतका को देखा व एक इंजेकशन लगाया जिस पर मृतका के मुंह से झाग निकलने लग गये। बाद में डॉ. ने उसे सरकारी अस्पताल रैफर कर दिया। जिस पर रास्ते में उसकी मौत हो गई। इसमें मृतका के जेठ का आरोप है कि डॉ. ने उसके अपने निजी अस्पताल में मरने के बाद रैफर किया। गौरतलब है कि सरकारी अस्पताल में भी यही डॉ. मृतका का ईलाज करता। मामले में कहीं न कहीं शंसय है। मामले की सूचना मिलने पर एसडीएम सीएल मीणा,तहसीलदार मूलचंद लूणीया,डीएसपी नितेश आर्य,सीआई रामप्रताप विश्रोई,छापन थानाधिकारी सत्येन्द्र कुमार मरैके पर पहुंचे व गुस्साए परिजनों को शांत करने के साथ ही भीड़ को काबू में किया। बाद में मृतका के परिजनों सहित समाज के लोगों से समझाईस कर मामले को शांत करवाया। समाज के लोगों में प्रमुख रूप से मौके पर नूरमोहम्मद खां,युनुस खां,मजीदखां,शाहिद खां आदि मौजूद थे। मामले की जांच के लिए मृतका के शव को सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है।

7 COMMENTS

  1. wah dr kamal ki chal chali ghar me bhi aap ilaaz karte sarkari hospital me bhi aap hi Dr the to esa aap ne kyu kiya aap ko sidhe hospital hi bhejna tha ……
    Galti ki hai saza to aap ko kari se kari milni
    Chahiye….ghunah kiya hai ese Dr ko kate hi nahi bakhsna nhai chahiye……………..innalila hi w inna ilehi raazioon..
    Allha pak us ke pariwar ko sabar de…

    • jab tak mera khayl mr. arsad koi bhi dr. apne mariz ko janbujh kar nhi marta or wese bhi jindgi or muot to allah ke hath me agar jindgi or mout dr. ke hath me hoti to dunia me koi nhi marta. or ha koi insan perfect nhi hota yeh to hum jante hi ha

  2. is ka ilaz ha my brother hum ko swasthy kendar ko chithi likhkar hamari problem batani chahiye i hope ladies dr. ka intejam ho jayega

  3. ye sab apni galti ke karan huaa h ,agar hum hamare pariwar ki ladkiyo ko pehle se padhate to aaj un me se koi n koi dr. Bankar sujangarh ka bhavisya ujwal kar sakti thi ,lekin av meri vinti h aap logo se ki ladkiyo ko jyada se jyada padhao…….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here