जिला बनने की मांग ऑटो चालको ने रैली निकाल कर तहसीलदार को विभिन्न मांगो का ज्ञापन सौपा

SHARE

सुजानगढ को जिला बनने की मांग को लेकर ऑटो चालक युनियन ने सोमवार को ऑटो चालको ने रैली निकाल कर तहसीलदार को विभिन्न मांगो का ज्ञापन सौपा। बस स्टेण्ड से रैली रवाना होकर विभिन्न मार्गो से होते हुए नारेबाजी करते हुए तहसील कार्यालय पहुंची। ऑटो चालकों ने नगरपालिका व प्रशासन के विरूद्ध जमकर नारेबाजी कर उपखण्ड कार्यालय के समक्ष अपना विरोध प्रकट किया। मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार मूलचंद लूणीया को एक पांच सूत्रीय मांग का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग सं. 65 जो कि उप पुलिस अधीक्षक कार्यालय से लेकर भोजलाई चौराहे तक जगह जगह से सड़क क्षतिग्रस्त है। जिसके कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है व वाहन पलटते रहते हैं।

ज्ञापन में बताया कि नगरपालिका व प्रशासन की लारवाही के चलते कई वर्ष पूर्व बना नया बस स्टेण्ड दुर्दशा का शिकार हो रहा है,जिस पर नए बने बस स्टेण्ड में निजी बस चालकों व रोड़वेज विभाग को स्थानांतरित किया जाए। ज्ञापन में बाजारों से अतिक्रमण हटाने सहित कस्बे की नालियों व टुटी सड़कों व सुजानगढ़ को जिला बनाने की भी मांग की गई है। ज्ञापन सौंपते समय कांग्रेस जिला अल्पसंख्यक प्रकोष्ठमहामंत्री अयूब खां नसवाण,बशीखां फौजी,लाल मौहम्मद,राजेन्द्र बेदी,सुनील पारीक,चंपालाल माली,मुराद खां व बाबू सब्जीफरोश मौजूद थे।

4 COMMENTS

  1. You’re doing a good job with Sujangarh Online. I suggest, you should start an online movement on “Sujangarh Jila Banao” because ‘Sujangarh jila – abhi nahi to kabhi nahi’. On your site there should be one more page related to above movement, gathered the opinion of local public about the above movement. Wish you all the Best.

    • Online page banane se kuch nahi hoga.
      Baat ye hai ki humare politicians chahte hi nahi h aisa hona. Agar aisa ho gaya to unke pass ek point kam ho jayega election ke time.

      • We should concentrate on ourselves and our motto. What we need and what we expect from our politicians, we should express our feelings to them. They will do or not that’s their point of view. But we’ve rights to express our thoughts. Dear, do something different in this regard. I’m sure your online movement will definitely strike the mind of the local public as well as politicians. Good luck!!!

  2. Don’t be personally. You are doing the job of media. Remember the movement of Dainik Bhaskar “Ban on Gutkha” .. it is successful. After their movement about nine state declared the ban on Gutkha. Dainik Bhaskar also knows each and every party’s members/politicians more than you. But they also knows that their prior job is ‘To honour the expectations of local public’. You are doing social welfare job, don’t believe in copy-paste, make something different and memorable. Further, your wish. Good Bye!!!

LEAVE A REPLY