गनोड़ा हत्याकाण्ड का आरोपी बलबीर बानूड़ा दो दिन के रिमाण्ड पर

SHARE

कोबरा टीम के कमाण्डो, पुलिस के सशस्त्र जवानों के भारी भरकम सुरक्षा इंतजामों के बीच भौजलाई चौराहे पर गोलीबारी कर तीन जनों को घायल करने एवं तहसील के गनोड़ा गांव के शराब ठेके पर गोलियां चलाकर सेल्समैन राकेश जाट की हत्या करने के आरोपी बलबीर बानूड़ा को बख्तरबंद गाड़ी में सीकर जेल से प्रोडक्शन वारंट पर सुजानगढ़ लाया गया। न्यायालय परिसर को पुलिस छावनी में तब्दील करने के बाद आरोपी बलबीर बानूड़ा को एसीजेएम न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायाधीश विश्वबंधु ने आरोपी को दो दिन के पुलिस रिमाण्ड पर सौंपे जाने के आदेश दिये। बानूड़ा को पेश करने के दौरान न्यायालय परिसर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस के सशस्त्र जवान तैनात थे।

कैलाश जाखड़ के फरार होने से बढ़ी बानूड़ा की सुरक्षा
जोधपुर उच्च न्यायालय परिसर में गोलीबारी कर भंवरी प्रकरण के अहम आरोपी कैलाश जाखड़ को भगाकर ले जाने के बाद पुलिस ने प्रदेश के कुख्यात आरोपी बलबीर बानूड़ा की सुरक्षा बढ़ा दी है। इसी के मद्देनजर बानूड़ा को सीकर से सुजानगढ़ बख्तर बंद गाड़ी में एक एस.आई. के नेतृत्व में कोबरा कमाण्डो, आर.ए.सी के जवानों और पुलिस के सशस्त्र जवानों के कड़े सुरक्षा पहरे में सुजानगढ़ लाया गया। बानूड़ा की सुरक्षा को लेकर गम्भीर पुलिस प्रशासन ने सुजानगढ़ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं। एक एस.आई. के नेतृत्व में सीकर से आये 10 कोबरा कमाण्डो, आर.ए.सी. के 15 जवानों और सीकर पुलिस के सशस्त्र 15 जवानों के अलावा जिले के राजगढ़ थाने के एस. आई. दिलीपकुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया है। इसके अतिरक्त पुलिस उपाधीक्षक नितेश आर्य, सुजानगढ़ सी.आई. रामप्रताप विश्नोई, छापर थाना प्रभारी सत्येन्द्र कुमार, सालासर थाना प्रभारी महावीर प्रसाद के नेतृत्व में 100 से अधिक सशस्त्र जवानों को बानूड़ा की सुरक्षा में तैनात किया गया। बानूड़ा की सुरक्षा को लेकर गम्भीर सुजानगढ़ पुलिस ने सम्भवतया पहली बार सुजानगढ़ थाने के दरवाजे बंद किये हैं और आवागमन के लिए मात्र खिड़की को खोले रखा है। थाने में आने-जाने वाले से कड़ी पुछताछ करने के बाद ही उसे अन्दर या बाहर जाने दिया जा रहा है।

गनोड़ा हत्याकाण्ड में अब तक हो चूके हैं ये गिरफ्तार
गत वर्ष गुजरात में हुई सड़क दुर्घटना में गनोड़ा हत्याकाण्ड में वांछित आरोपी रामधन की मौत हो गई, जबकि रामसिंह व के.डी. चारण, रूपेन्द्रपालसिंह उर्फ विक्कीसिंह, मोंटीसिंह उर्फ महिपालसिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, जो फिलहाल जेल में है तथा बलबीर बानूड़ा को सीकर जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दो दिन के रिमाण्ड लिया गया है। पुलिस उपाधीक्षक नितेश आर्य ने बताया कि वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है तथा उनके शीघ्र ही पकड़ में आने की सम्भावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here