पंचायत समिति परिसर में प्रधान नानीदेवी गोदारा का अभिनन्दन

SHARE

पंचायत समिति परिसर में मंगलवार को साधारण सभा की बैठक में पंचायत समिति प्रधान नानीदेवी गोदारा व लोढसर ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमति संतोष शर्मा का राष्ट्रीय स्तर सम्मान होने पर स्थानीय पंचायत समिति सदस्यों , सरपंचो व ग्राम सेवको व पंचायत समिति के कर्मचारियो व अधिकारियो ने अभिनन्दन किया। पंचायत समिति की ओर से विकास अधिकारी विक्रमसिह राठौड़, तहसीलदार महेन्द्र चौधरी ने नानीदेवी गोदारा को चुनड़ी , शॉल, साफा , श्रीफल व अभिनन्दन पत्र भेंट कर स्वागत किया। ग्राम पंचायत लोढसर सरपंच संतोष शर्मा का अभिनन्दन सोनादेवी व पतासीदेवी , बीदासर तहसीलदार श्योराम वर्मा, कृषि ऊपज मंडी के चैयरमैन प्रतिनिधि भंवरलाल ढाका, सरपंच संघ के अध्यक्ष केशराराम गोदारा,पंचायत समिति सदस्य भंवरलाल लेघा, सोहनराम लोमरोड़, किसनाराम दुधवाल, तोलाराम मेघवाल, शायरकंवर, रामसुख गोदारा, धापूदेवी बेनीवाल, परमेश्वरलाल मेघवाल सहित जनप्रतिनिधियो ने दोनो का माल्यार्पण कर अभिनन्दन किया। पूर्व प्रधान पुसाराम गोदारा ने सदन को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सम्मान सभी के सहयोग व मेहनत, लगन का परिणाम है कि सुजानगढ पंचायत समिति व ग्राम पंचायत लोढसर राज्य स्तर ही नही the best online casino अपितु राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान प्राप्त किया है। जिसका श्रेय सभी को जाता है। तत्पश्चात बैठक की कार्यवाही करते हुए बिजली पानी के मुद्दे पर काफी चर्चा हुई।

शोभासर के सरपंच लक्ष्मीनारायण मेघवाल ने शोभासर गांव की मेघवाल बस्ती में करीबन छह माह से पेयजल आपूर्ति प्रभावित है सदन में बार-बार मुद्दा उठाने के बाद भी समस्या का समाधान नही हो रहा है। इसके अलावा शिक्षा, चिकित्सा, महिला बाल विकास विभाग के संबंधि समस्याओं पर चर्चा की गई। पुसाराम गोदारा ने सदन को बताया कि राज्य सरकार ने किसानो के हित में बड़ा फैसला लेते हुए दो हेक्टयर से कम भूमि वाले किसानो को चार माह का बिजली बिल माफ करने की घोषणा की है तथा बीस बिघा कम भूमि वाले किसानो को सरकार द्वारा मुआवजा दिया जायेगा। सारोठिया के सरपंच रामकरण जाखड़ ने सदन का ध्यान आकर्षित करवाया कि मारोठिया स्कीम के तहत कई गांवो में पेयजल समस्या बनी हुई है। इसी प्रकार मुंदड़ा सरपंच नारायण सिह ने मूंदड़ा ग्राम पंचायत की पानी की समस्या रखी। लोढसर सरपंच प्रतिनिधि कन्हैयालाल शर्मा ने लोढसर ग्राम पंचायत को मिला सम्मान के लिए सभी का आभार जताया। अतिरिक्त बीईईओ सुरजाराम डाबरिया ने बताया कि सिंचित क्षेत्र के के अभाव ग्रस्त 76 गांवो में मिडडे मील के तहत बच्चो को भोजन उपलब्ध करवाया जायेगा जिसके लिए एक शिक्षक को पाबंद किया गया है।

डाबरिया ने बताया कि जनप्रतिनिधि अधिकाधिक बच्चो को स्कूलो में भेज कर इस योजना का लाभ उठाने में सहयोग करने की अपेक्षा की है। इस अवसर पर गोपालपुरा सरपंच अमराराम मेघवाल, केशरसिह राजियासर, प्रेमसिह दुंकर, विमल जेदिया, मालाराम शेरडिय़ा, रामकरण लोळ, भागूराम सारण, हंसराज मीणा, जीवणराम नेहरा, ठाकु रमल कताला, गोविन्दसिह, रूपाराम मेघवाल, रामानन्द फलवाडिय़ा, घनश्याम भाटी, रामदेव डारा, अधिशाषा अभियंता जे आर नायक, गगाराम मौर्या, बीसीएमएचओ महेश वर्मा, डॉ. सी आर सेठिया, नायब तहसीलदार सुभाष चौधरी, प्रगति प्रसार अधिकारी विद्याधर पारीक, सहायक अभियंता जसवन्तसिह, मनीराम , कनिष्ठ अभियंता मोहनलाल, सहित जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY