चिकित्सालयों में महिला चिकित्सक की नियुक्ति चुनौतीपूर्ण – दुर्रू मिंया

SHARE

चिकित्सा एंव स्वास्थय मंत्री दुर्रू मिंया ने चूरू जिले के दौरे के दौरान सोमवार को छापर कस्बे के राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण के दौरान भर्ती मरीजों के हाल-चाल जाने तथा अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। इससे पुर्व छापर आगमन पर पालिका परिसर चिकित्सा मंत्री के सम्मान में आयोजित स्वागत समारोह को संबोधित करते हुए पालिकाध्यक्षा सुनिता पारीक ने राजकीय चिकित्सालय को सी एच सी का दर्जा देने की मांग की।

कार्यक्रम में छापर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कन्हैयालाल मेघवाल, श्याम बाबू,पार्षद श्याम मोहन परिहार, अली मौ., नगर युवक कांग्रेस अध्यक्ष मनोज सोनी, पार्षद रजनी देवी सोनी, पुर्व सरपंच बुधनाथ सहित दर्जनों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने चिकित्सकीय सेवाओं की मांगों से जुड़े ज्ञापन सौंपे । इस अवसर पर चिकित्सा मंत्री ने कहा कि छापर के चिकित्सालय को सी.एच.सी. कादर्जा देना इस सत्र में संभव नहीं है फिर भी मैं मुख्यमंत्री से वार्ता कर दर्जा दिलाने का प्रयास करूंगा। महिला चिकित्सक की नियुक्ति की मांग पर चिकित्सा मंत्री दुर्रू मियां ने कहा कि हमारी संस्कृति में महिलाएं किसी पूरूष चिकित्सक कि बजाय महिला चिकित्सक को प्राथमिकता देती है, यह मांग यहां से ही नहीं सब जगहों से है, जो हमारे लिए एक चुनौती है ।

इस अवसर पर चिकित्सा मंत्री के साथ सुजानगढ़ विधायक मा.भंवरलाल मेघवाल, जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भंवरलाल पूजारी, जिप सदस्य पूसाराम गोदारा,पूर्व कृषि उपज मंडी अध्यक्ष सुरजाराम ढाका भी साथ थे । चिकित्सालय के क्षतिग्रस्त भाग को तुड़वाकर भामाशाह को प्रेरित कर बनवाने के लिए चिकित्सकों की ओर से पेश किय गये दस्तावेजों पर मार्किंग करते हुए चिकित्सा मंत्री ने कहा कि यह काम जल्दी ही हो जायेगा। कस्बे के विभिन्न सामाजिक, राजनैतिक संगठनों ने राजकीय चिकित्सालय में लम्बे समय से चल रहे रिक्त पदों को भरने की मांग रखी। जिस पर मंत्री ने तबादले खुलते ही चिकित्सक लगाने का आश्वासन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here