सोने के उत्पादन शुल्क बढाने के विरोध में उपखण्ड कार्यालय के सामने विरोध करते हुए व्यापारी

SHARE

वितमंत्री प्रणव मुर्खी द्वारा बजट में सोने के उत्पादन शुल्क बढाये जाने के विरोध में स्थानीय सराफा बाजार के व्यापारियो ने अपनी प्रतिष्ठाने बंद रखकर उत्पादन शुल्क को वापस लेने की मांग की। स्थानीय श्री मैढ स्वर्णकार सभा में एक बैठक आयोजित कर सरकार के निर्णय का विरोध करते हुए सैकड़ो व्यापारियो ने मंगलवार लक्ष्मीनारायण जी के मंदिर के पास से जुलूस निकाला। जो शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए उपखण्ड कार्यालय पहुंचा ।

जुलूस सराफा बाजार के व्यापारियो ने वितमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बढाए गए शुल्क का भारी विरोध किया। नया बाजार , घण्टाघर ,दिगम्बर जैन मंदिर के सामने का बाजार, गांधी चौक, गांधी बालिका के सामने , सिंघी मंदिर के पिछे सहित विभिन्न मार्गो में स्वर्णकार समाज की दुकाने बंद रही। स्थानीय श्री मैढ स्वर्णकार सभा के पदाधिकारियों ने महामहिम राष्ट्रपति के नाम एक हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन उपखण्ड अधिकारी को सौपकर सोने पर बढाये गये सीमा शुल्क को वापिस लेने एवं उत्पादन शुल्क समाप्त करने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि वर्तमान बाजार में सोने के आयात शुल्क 2 प्रतिशत से बढाकर 4 प्रतिशत किया गया है जिस के कारण गरीब परिवार की महिला के लिए मंगल सुत्र बनवाना भी अत्यन्त कठिन हो गया है।

स्वर्ण आभूषणो पर लगाये गये उत्पाद शुल्क के कारण पहले से ही अनेक बेरोजगारी से जुझ रहे स्वर्णकार समाज के लिए कोढ से खाज का काम होगा। ज्ञापन में बढाये गये सीमा शुल्क व उत्पादन शुल्क समाप्त करने की मांग की है। ज्ञापन में अध्यक्ष बुद्धिप्रकाश सोनी, मंत्री मदनलाल सोनी, सुनील मैसूण, पुरूषोतम, विकास कुमार जोड़ा, हर्षवर्धन सोनी, नवरतन भामा , प्रमोद, सहदेव सोनी, बजरंग जोड़ा, मनोज सोनी, राजेश भामा, पवन सोनी, अरविन्द सोनी के हस्ताक्षर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here