आदर्श विद्या मन्दिरों की हठधर्मिता की सिंधी समाज ने की शिकायत

SHARE

कस्बे के आदर्श विद्या मन्दिरों में सिंधी समाज के पर्व चेटीचण्ड पर अवकाश नहीं किये जाने से आक्रोशित समाज के युवाओं ने मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी सी.एल. मीणा को एक ज्ञापन सौंपकर विद्यालय प्रबन्धन की कथित हठधर्मिता की शिकायत की है। ज्ञापन में लिखा है कि चेटीचण्ड सिंधी समाज का मुख्य पर्व है, जिस पर भारत सरकार एवं राज्य सरकार की ओर से सार्वजनिक अवकाश रहता है तथा शिक्षा विभाग के शिविरा पंचांग में भी चेटीचण्ड पर 24 मार्च को अवकाश है। परन्तु आदर्श विद्या मन्दिर एवं इससे सम्बन्धित विद्यालय चेटीचण्ड पर अवकाश नहीं रखकर सिंधी समाज का अपमान कर समाज की धार्मिक मान्यताओं को ठेस पंहूचा रहे हैं।

ज्ञापन में लिखा है कि इस बारे में जब समाज के प्रबुद्धजनों ने विद्यालय के पदाधिकारियों से बात की तो उन्होने कहा बताया कि विद्यालय हमारी मर्जी एवं हमारे नियमों से चलते हैं, हमारे ऊपर सरकार के आदेश नहीं चलते और न हीं हम शिक्षा विभाग के निर्देश मानने को बाध्य है। ज्ञापन में चेटीचण्ड पर अवकाश घोषित करवाने व विद्यालयों के हठधर्मितापूर्ण रवैये पर विराम लगाने की मांग की गई है। सिंधी नवयुवक मण्डल के महामंत्री खुशीराम चान्दरा के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपने गये प्रतिनिधि मण्डल में संयोजक नरेश जगवानी, उपाध्यक्ष किशन मूलचन्दानी, कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र भागवानी, सह संयोजक कन्हैयालाल बिनवानी, सह कोषाध्यक्ष प्रेमप्रकाश तोलानी, भण्डार मंत्री कन्हैयालाल मूलचन्दानी, मंत्री रोहित जगवानी शामिल थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY