ब्रह्मोत्सव में हुआ भगवान का विवाह

SHARE

स्थानीय वेंकटेश्वर मन्दिर में  आयोजित ब्रह्मोत्सव में बुधवार को भगवान वेंक टेश्वर का कल्याणोत्सव (भगवान का विवाह) धूमधाम के साथ सम्पन्न हुआ। कल्याणोत्सव पर नागौर की सन्तोष बाई ने भगवान के भजनों की एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां दी। अनेक महिलाओं एवं पुरूषों ने भगवान का विवाह देखकर पुण्य लाभ कमाया। शाम को शेषनाग पर आरूढ़ होकर भगवान की सवारी निकली। तीन बार मन्दिर की प्ररिक्रमा पूरी करने केबाद भगवान की शेषनाग सवारी की पूजा आचार्य कृष्ण कुमार भट्टर द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ की गई। वैदिक मंगलाचरण के साथ भगवान का विवाह सम्पन्न हुआ।

विवाहोत्सव में उपस्थित भक्त जय गोविन्दा-जय गोविन्दा करते हुए नाचने लगे। मन्दिर के ट्रस्टी आलोक कुमार जाजोदिया एवं मंजूदेवी जाजोदिया द्वारा भगवान की आरती व पूजा-अर्चना की गई। आरती के पश्चात गोष्ठी प्रसाद का वितरण किया गया। दक्षिण भारतीय पद्धति से हो रहे ब्रह्मोत्सव के सभी धार्मिक अनुष्छान विद्वान पंडितजन वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ सम्पन्न करवा रहे हैं। मन्दिर के व्यवस्थापक मोहनसिंह राठौड़ ने बताया कि गुरूवार को भगवान की गरूड़ सवारी नगर भ्रमण के लिए दोपहर तीन बजे कस्बे के विभिन्न मार्गोँ से गुजरेगी। जिसमें मनमोहक झांकियां सजाई जायेगी तथा विद्यालयों के बच्चे भाग लेंगे और महिलाएं शीश पर कलश धारण कर हरिकीर्तन करते हुए चलेगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY