ग्राम मलसीसर में स्वाइन फ्लू की जानकारी देते हुए डॉ. अजय चौधरी

SHARE

तहसील के ग्राम मलसीसर में स्वाइन फ्लू से हुई एक विवाहिता की मौत के बाद चिकित्सा विभाग में हड़कम्प मच गया। शनिवार को जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अजय चौधरी अपने दल सहित ग्राम मलसीसर पहुंचकर चिकित्सा व्यवस्था की जानकारी करते हुए स्वाइन फ्लू के बारे में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय , राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में बच्चो को स्वाइन फ्लू के लक्षण व रोकथाम के उपाय बताए।

मलसीसर ग्राम की विमला मेघवाल (25 ) पिछले दस-पन्द्रह से खांसी-जुखाम की चपेट थी 18 फरवरी को राजकीय चिकित्सालय सुजानगढ में उपचार्थ के लिए भर्ती करवाया था एक दिन भर्ती रहने के बाद डॉ. दिलीप सोनी ने उसे बीकानेर रैफर कर दिया। बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में उक्त महिला की जांच में एच 1 एन 1 पॉजीटीव पाए जाने के बाद 23 फरवरी को महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई।

स्वाइन फ्लू की सूचना मिलते ही चिकित्सा विभाग में हड़कम्प मच गया और ग्रामीण भी भयभीत नजर आए। शनिवार को डॉ. संदीप राजोदिया के नेतृत्व में चिकित्सा टीम ने मृतका के घर के आस-पास के पच्चास घरो में सर्वे कर 29 सदस्यो को दवाइंया वितरित की गई। शनिवार को जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय चौधरी ने सर्वे टीम को निर्देशित करते हुए कहा कि किसी प्रकार के लक्षण व रोगी पाये जाने पर तत्काल प्रभाव से उपचार कर जिला मुख्यालय पर सुचित करे। अजय चौधरी ने बताया कि दो सर्वे टीम गठित की गई जिसमें बड़ाबर पीएचसी के डॉ. संदीप राजोदिया के साथ बनवारी व एएनएम बलवंत कोर ठेरा डाले हुए है।
विद्यार्थियो को स्वाइन फ्लू की जानकारी दी

सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी ने शनिवार को मलसीसर ग्राम पहुंचकर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में विद्यार्थियो स्वाइन फ्लू के लक्षणो की जानकारी देते हुए रोकथाम के विभिन्न उपाय बताये। सर्दी जुखाम को मामूली रोग नही मानकर सावचेत रहते हुए समय पर उपचार करवाने का आग्रह किया। इस दौरान चिकित्सा टीम ने सर्दी जुखाम से पीडि़त विद्यार्थियो की जांच कर दवाइंया दी।


हवा के साथ फैलता स्वाइन फ्लू
डॉ. अजय चौधरी ने विद्यार्थियो को बताया कि स्वाइन फ्लू रोग एक दुसरे के साथ बैठने तथा बात करने से हवा के माध्यम से फैलता है। अत: मुंह पर मास्क लगाकर रखना चाहिए । उन्होने बताया कि दिन में प्रत्येक घण्टे बाद हाथो को साबून से साफ करना चाहिए ओर किसी सर्दी जुखाम से पीडि़त रोगी की वस्तु को छुने के बाद हाथो को धोना चाहिए। उन्होने विद्यार्थियो को भीड़ वाले स्थाने व मेले आदि में नही जाने की सलाह दी।
गांव में स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए पोस्टर लगाए
ग्राम मलसीसर में चिकित्सा टीम ने विद्यालय परिसर एवं गांव के मुख्य रास्तो पर स्वाइन फ्लू के लक्षणो व रोकथाम की जानकारी के पोस्टर लगाकर ग्रामीणो को जानकारी दी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY