चरित्र निर्माण में नारी की भूमिका महत्वपूर्ण

SHARE

स्थानीय सोनादेवी सेठिया कन्या महाविद्यालय में जैन साध्वी माता श्री विदूषी श्री श्री 1008 के सानिध्य में जैन धर्म सभा आयोजित की गई जिसमें माताश्री ने कहा कि चरित्र निर्माण में नारी की भूमिका महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि चरित्र का निर्माण कभी नष्ट नही होता है। नारी ही अपने चरित्र निर्माण से घर को स्वर्ग या नरक बना सकती है। जीवन में शिक्षा की प्राप्ति गुरू जनो व बड़ो के चरणो में बैठ कर ही प्राप्त की जा सकती है। इस अवसर पर व्याख्याता प्रेम नेहरा ने आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन सुश्री किरण फतेहपुरिया ने किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY