कब्रिस्थान में कुदरत का करिश्मा देखने को मिला

SHARE

आज सुजानगढ़ के नया बास में स्थित कब्रिस्थान में कुदरत का करिश्मा देखने को मिला । कब्रिस्थान में सफाई का कम चल रहा हैं जिसके चलते पेड़ो की कटाई और मिट्टी को हटाया जा रहा हैं । जब मिट्टी को हटा रहे थे तो एक कब्र मिली जो की 192 वर्ष पुरानी हैं । यह कब्र सवंत 1875 की हैं जो की तेलीनुरा बड़गुजर नामक व्यक्ति की हैं ।

कब्र इतनी मजबूत बनाई हुई थी की इसके ऊपर से कई बार क्रेन निकल जाने पर भी कब्र को कोई नुकसान नहीं हुआ । कब्र के साथ के पत्थर की पटी निकली उसमे मरने वाले का नाम और वर्ष लिखा हुआ हैं । पुरे दिन भर लोगो का कब्र को देखने के लिए आना जाना लगा रहा । कब्र पर स्थानीय लोगो द्वारा चारों तरह इंटो की दिवार बनाई गई हैं ताकि कब्र को अब कोई नुकसान न हो ।

 

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY