मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण कक्ष का निरीक्षण किया पूर्व शिक्षामंत्री ने

SHARE

पूर्व शिक्षामंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने रविवार को राजकीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। पूर्व शिक्षामंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण कक्ष में जाकर लोगो को दी जा रही सुविधाओ का जायजा लिया तथा चिकित्सको द्वारा मरिजो की परामर्श पर्चियो की जांच की। डॉ. एस के छाबड़ा को मेघवाल ने निर्देश दिया की मरिजो को वह दवाई लिखे जो आपके आप उपलब्ध हो। उपभोक्ता भण्डार द्वारा नि:शुल्क दवा वितरण के कर्मचारियो को फटकार लगाते हुए मेघवाल ने कहा की दवाईयों का स्टॉक खत्म होने से पूर्व में उच्चाधिकारियो को लिखित में दे ताकी  मरिजो को इधर-उधर भटकना न पड़े।

उन्होने चिकित्सको से वार्ता करते हुए कहा कि राज्य सरकार कि मंशा के अनुसार मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण को सफल बनाने के लिए मरिजो के उपचार के दौरान लिखी जाने वाली दवाईयो को ध्यान में रखते हुए वह दवाई पर्चियो में लिखे जो अस्पताल में उपलब्ध हो। जिससे इस योजना का लाभ आमजन को मिल सके। पर्चियो में चार दवाई लिखने पर मरिज को तीन दवाईयां सरकारी मिल जाती तथा एक दवा नही मिलने पर योजना का दुष्प्रचार होता है। इस दुष्प्रचार को  रोकने के लिए चिकित्सको सकारात्मक सोच के साथ उपलब्ध दवाईयो को ही लिखे। मेघवाल अस्पताल परिसर में घुसते ही शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. सी आर सेठिया के कक्ष में जाकर मरिजो से रूबरू होकर उनके हालात जाने।

इस बीच मरिज ने पूर्व  शिक्षा मंत्री मा.भंवरलाल से गुहार कि नाक, कान, गला रोग के चिकित्सक का पद काफी वर्षो से रिक्त है उस पद चिकित्सक लगाने कि मांग की। पूर्व शिक्षामंत्री ने मरिज को फरियाद नही सुनकर कहा कि देखेगे। इस मौके पर डॉ. सरोज छाबड़ा, डॉ. दिलीप सोनी, डॉ. सी आर सेठिया, डॉ. एन के प्रधान, डॉ. मधु जैन, डॉ. सकरवाल आदि चिकित्सको ने मेघवाल को अस्पताल की जानकारी दी।

इस बीच पूर्व शिक्षा मा. भंवरलाल ने अस्पताल के हालात मरिजो से जाने एवं सरकारी योजनाओ के बारे में विस्तार से चर्चा कर आम लोगो को राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर शहर ब्लॉक काग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रदीप तोदी, राधेश्याम अग्रवाल, पार्षद बाबूलाल कुलदीप, लालचंद शर्मा, महबूब व्यापारी, बंटी लाखन, शंकर स्वामी, उषा बगड़ा सहित अनेक कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

अस्पताल में मचा हडक़म्प
पूर्व शिक्षामंत्री व क्षेत्रिय विधायक मा. भंवरलाल मेघवाल रविवार को अचानक सरकारी अस्पताल पहुंचने से अस्पताल के कर्मचारियो व चिकित्सको में हडक़म्प मच गया। मेघवाल अपने गाड़ी से उतरते ही नि: शुल्क दवा वितरण कक्ष में जाकर चिकित्सको द्वारा लिखे जाने वाली दवाईयो का जायजा लिया व मरिजो से रूबरू होकर उनके स्वास्थ्य की कुशलक्षेम पुछी ।

मंत्री मण्डल से हटते ही शहर की सुध ली
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्री मण्डल से हटते ही पूर्व शिक्षामंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल अपने दो दिवसीय प्रवास के दौरान शहर की विभिन्न समस्याओ से रूबरू होते हुए पानी, बिजली व चिकित्सा विभाग के अधिकारियो की बैठक लेकर व्यवस्थाओ का जायजा लिया। अचानक पहुचे सरकारी अस्पताल में मेघवाल का दिनभर चर्चा कर विषय बना रहा।

मेघवाल से मिलने वालो का लगा रहा तांता
मंत्री मण्डल से हटाए जाने के बाद अपने गृह क्षेत्र के प्रथम दौरे में रविवार को पूर्व शिक्षामंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल से मिलने वालो का तांता लगा रहा। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के लोगो द्वारा सहानुभूति पूर्वक विचार विमर्श करते हुए राजनैतिक घटनाक्रम की चर्चा करते रहे। पूर्व शिक्षामंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने सादगी व आत्मियता से लोगो से मिलकर मंत्री मण्डल से हटाए जाने की आलाकमान के निर्णय को सर्वोपरि मानते हुए हंसी के साथ टालते रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY