एफडीआई कम्पनियों का विरोध किया

SHARE

भारतीय जनता पार्टी के आयुर्वेद प्रकोष्ठ के प्रदेश मंत्री वैद्य भंवरलाल शर्मा ने केन्द्र सरकार द्वारा देश के खुदरा व्यापारियों को तबाह करने कि योजना बताते हुए एफडीआई का विरोध करते हुए बताया कि केन्द्र सरकार बढ़ती किमतों पर अंकुश लगाने में नाकाम रही है। इसलिए जनता का ध्यान महंगाई से हटाने के लिए एफडीआई का शगुफा छोड़ा है।

शर्मा ने कहा कि एफडीआई से देश किजनता बर्बाद हो जायेगी और देश को दिवालिया बना दिया जायेगा। उन्होने कहा कि एक ईस्ट इण्डिया कम्पनी से आजादी पाने के लिए देश को सैंकड़ों वर्षोँ के संघर्ष के दौरान लाखों देशवासियों को अपनी शहादत देनी पड़ी और केन्द्र कि मनमोहन सरकार अब सोनिया गांधी व राहूल गांधी के विदेशी प्रेम में फंसकर देश को बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के हवाले करने पर तुली हुई है।

वैद्य शर्मा ने बताया कि एफडीआई के लागू होने से देश के करीब पांच करोड़ फूटकर व्यवसायी बेरोजगार हो जायेंगे तथा देश को भंयकर संकट का सामना करना पड़ेगा। उन्होने कहा कि भाजपा कोंग्रेस कि इस राष्ट्र विरोधी नीति का विरोध करती है। इस नीति के लागू होने से देश में बेरोजगारी, भुखमरी बढ़ेगी तथा किमतों पर से सरकार का नियंत्रण समाप्त हो जायेगा और व्यापार चौपट हो जायेगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY