ये सड़कें चाटने लायक तो क्या थूकने लायक भी नहीं है

SHARE

2 दिन पहले जब मंत्रीजी निशुल्क दवा वितरण सेवा का उद्घाटन करने आये थे तब उन्होंने कहा की सुजानगढ़ का विकास बहुत तेज़ गति से हो रहा है। सुजानगढ़ की सड़के चाटने लायक बना दी है लेकिन इन सडको का हाल देख कर तो ऐसा लग रहा है यहाँ तो चाटने छोड़ो ये सड़के तो थूकने लायक भी नहीं है। जब हम सुजानगढ़ की सडको का हाल देखने गए तो आंखे खुली रह गई। अगर कोई व्यक्ति पुराने या सरावगी पेंट्रोल पम्प के आस पास घर है तो उनको काम के लिए 1 घंटा पहले निकलना पड़ता है तब जाकर वो मार्केट पहुँचता है।

सालासर या जयपुर से आने वाली बसों गाडियों का ये हाल है की वो सुजानगढ़ के अन्दर तो पहुँच जाती है लेकिन स्टेंड पहुँचने के लिए एक घंटा लगता है। लोगो का इनता बुरा हाल है की उनको इस सडको के बारे में पूछते ही भड़क उठते है और सरकार को गालिया निकलने लगते है। सडको के आस पास की दुकानों का यह हाल है की उसमे रखे कोई भी समान नया नहीं लगता है। पूरी दूकान में टूटी सड़के होने के कारण रेत ही रेत रहती है।

लोगो को आने जाने में इतनी तकलीफ हो रही है की उनका गुस्सा देखने को बनता है। कई बार तो वहा पर गाडियों की लाईन लग जाती है और घंटो तक जाम लगा रहता है। कई बार तो इन टूटी सडको की वजह से बहुत बढे बढे हादसे हो गए है। कई लोगो की तो जान भी चली गई है फिर भी मंत्रीजी को नहीं दिखता तो मंत्रीजी क्या सुजानगढ़ का विकास करवा रहे हो वो उन्ही से पूछना चाहिए।

सुजानगढ़ का गाँधी चोक की टूटी हुई सड़क
स्टेशन रोड पर जमा पानी

11 COMMENTS

  1. Hey, our Minister said, the Sujangdh is developing very fast. okay we all are agree with him. But he forgot to tell something special that Roads are good only front of minister’s house, not the whole of Sujangarh.

LEAVE A REPLY