वृद्धा की धारदार हथियार से वार कर हुई हत्या

SHARE

सुजानगढ़ : शनिवार की शाम को सरकारी अस्पताल के पास स्थित बोथरा कॉटेज में एक वृद्ध महिला की धारदार हथियार से वार कर हत्या हो जाने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। वृद्ध महिला बोथरा कोटेज की मालकिन थी प्रथम दृष्टया ज्यादा सम्पत्ति होना हत्या का कारण हो सकता है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बोथरा कोटेज में मोहनीदेवी पत्नी बुधमल बोथरा जिसकी उम्र करीब 80 वर्ष है, उपर की मंजिल पर रहती थी। उसके नीचे के आंगन पर सरकारी चिकित्सक डॉ. राजेन्द्र टण्डन किराये पर रहता है। उक्त वृद्ध महिला उपर से दूध के लिए केतली रस्सी की सहायता से नीचे उसारकर दूध लेती है और बाद में केतली को उपर खींच लेती है। शनिवार की शाम को रोज की तरह जब दूधवाला आया उक्त महिला को आवाज लगाने लगा तो किसी प्रकार की हरकत या प्रत्युत्तर नहीं आने पर उसने आस पास के लोगों से पूछताछ की कि मांजी कहीं गई है क्या? इस पर लोगों ने कहा कि तुम खुद उपर जाकर देख लो। उपर जाने के रास्ते सिढियों पर ताला होने के कारण उक्त दूधवाला दूसरे रास्ते से दीवार फांदकर उपर गया तो उसने पाया कि वृद्ध महिला लहुलुहान अवस्था में कमरे में पड़ी थी। उसके बाद उसने नीचे आकर लोगों को सूचना दी तो पूरे प्रकरण का खुलासा हुआ और पुलिस को जानकारी दी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मौके पर कमरे में वृद्धा की लाश जिस प्रकार से पड़ी मिली उससे लग रहा था कि महिला ने अपने बचाव में संघर्ष किया लेकिन व असफल रही। महिला के सिर पर धारदार हथियार से वार किया गया है जिससे वह लहुलूहान हो गई। मौके पर अलमारी व लॉकर खुले हुए मिले तथा खुली अलमारी के पास ही लगे गद्दे पर वृद्धा की लाश पायी गई। पास में एक तकिया भी पड़ा था।
उक्त वृद्धा उपर चढने की सीढ़ियों की चाबी भी अपने पास रखती थी। जब किसी को सीढ़ियों से बुलाना होता या कोई चीज मंगवानी होती तो महनीदेवी रससी से चाबी नीचे उसार देती थी और फिर सीढियों का ताला खुलता। हत्या के वक्त सीढियों का ताला बन्द था। मृतका के कोई सगा पुत्र नहीं है एक दत्तक पुत्र सुशीलकुमार है जो कि दिल्ली में रहता है। लोगों ने उक्त वृद्धा की हत्या की सूचना जब सुशीलकुमार को दी तो वह तुरन्त दिल्ली से रवाना हो गया।
सरकारी अस्पताल के पास स्थित वृद्धा मोहनीदेवी के दोहिते पवन, संजय आदि उसे संभालते थे। संजय ने बताया कि दोपहर ढाई बजे मोहनीदेवी ने चिलङे भी खाये थे वह एकदम स्वस्थ थी। किसी से कहासुनी या विवाद भी नहीं था।
हत्या की वारदात की सूचना फैलते ही आस-पास के लोगों की भीड़ भी कोटेज में लगने लगी। लोग उत्सुकता पूर्वक एक दूसरे से सूचना लेते नजर आये।
मौके पर तथ्यों की बारिकी से जाँच करने के लिए एफएसएल टीम को बुलाया गया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here