ग्रामीणों को राहत प्रदान करने वाले शिविरों में मची लूट

SHARE

राज्य सरकार द्वारा ग्रामीणों को राहत प्रदान करने के लिए चलाये जा रहे प्रशासन गांवों के संग अभियान में ग्रामीणों से लिखा-पढ़ी की एवज में की जा रही खुल्लम-खुल्ला लूट सामने आ गई है। हुआ यूं कि शनिवार को तहसील कें ग्राम मुरडाकिया के राजकीय विद्यालय में आयोजित शिविर का जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अबरार अहमद ने निरीक्षण किया तथा वे आम नागरिक बनकर शिविर में घुस गये। शिविर में उन्होंने एक प्रलेख लेखक से जाकर कहा कि मुझे डीड बनवानी है। इस पर प्रलेख लेखक ने सीईओ को पहचाना नहीं और जरूरत से ज्यादा रूपये लगेंगे कहा। इस पर अबरार अहमद ने कहा कि मुझे तो अधिकारियों ने कहा कि ..रूपये लगेंगे। इस पर प्रलेख लेखक ने कहा कि …रू लेंगे। इस पर प्रलेख लेखक ने कहा कि …रू हो तो आ जाना। जबकि लीज डीड की निर्धारित दर मात्र ..रू ही है। इस पर सीइओ अहमद ने शिविर में अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए फोटोस्टेट की रेट पूछी तो पाया गया कि फोटोस्टेट पाँच रूपये में की जा रही है। गुस्साये अबरार अहमद ने शिविर संभाल रहे अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि ग्रामीण जनता इस प्रकार लूट रही है और सब अधिकारी चुपचाप देख रहे हैं यह गलत है, ये दुकानदारी बंद करो और जनता की सुविधा पर ध्यान दो। सीईओ अहमद ने आवेदन पत्रों की स्टाल पर जाकर आवेदन पत्रों, पासपोर्ट साइज फोटो आदि के बारे में जानकारी के बारे में जानकारी ली जिस पर निर्धारित रेट से ज्यादा वसूली पाई गई। अहमद के अचानक शिविर में निरीक्षण आने की जानकारी किसी को नहीं लगी लेकिन जब इस बात का खुलासा हुआ तो अधिकारियों में हडकम्प मच गया। ग्रामीणों ने भी शिविर की अव्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली जिस पर निर्धारित रेट से ज्यादा वसूली पाई गई। अहमद के अचानक शिविर में निरीक्षण आने की जानकारी किसी को नहीं लगी लेकिन जब इस बात का खुलासा हुआ तो अधिकारियों में हड़कम्प मच गया। ग्रामीणों ने भी शिविर की अव्यवस्थाओं के बारे में अहमद को अवगत करवाया। अबरार अहमद ने बाद में अधिकारियों के साथ मिल बैठकर विभिन्न कार्यों की दरें तय करवायी व कुछ देर रूका हुआ काम फिर शुरू हुआ। शिविर में जलदाय विभाग का जेईएन अनुपस्थित पाया गया जिस पर जलदाय विभाग को फटकार लगी। बिजली पानी की समस्या के लिए भी अहमद ने अधिकारियों को लताड़ पिलाई व दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश शिविर प्रभारी एसडीएम अजीतसिंह राजावत को दिये। अहमद ने कहा कि अगर ऐसी गड़बड़ी दुबारा पाई जावे तो दोषियों के लाइसेंसे निरस्त कर दिये जायेंगे। इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी अजीतसिंह राजावत, तहसीलदार महेन्द्र चौधरी, प्रगति प्रसार अधिकारी विद्याधर पारीक, कृषि उपज मण्डी अध्यक्ष सुरजाराम ढाका, पूर्व जिला प्रमुख भंवरलाल पुजारी, ग्राम सरपंच राजेन्द्र सिंह चारिया, गंगाधर मुण्ड, कमल प्रजापत एवं विकास अधिकारी मूलाराम चौधरी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here