डॉ. प्रकाश राठी का निधन

SHARE

सुजानगढ़ : कस्बे के प्रसिद्ध सर्जन डॉ. प्रकाश राठी का गत रात्रि को हृदयाघात् के कारण निधन हो गया। वे अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गये है। ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों में अच्छी पैठ रखने वाले डॉ. प्रकाश राठी के निधन का समाचार ज्योहि कस्बे में फैला तो जनता में शोक की लहर छा गई। मंगलवार को दोपहर बाद उनकी अंत्येष्टि में कस्बे के सैंकड़ों नागरिकों ने शरीक होकर उन्हें अपनी अंतिम श्रद्धाजंलि अर्पित की। डॉ. राठी को उनके छोटे बेटे अनिरूद्ध ने मुखाग्नि दी। गमगीन माहौल में डॉ. राठी की देह पंचतत्व में विलीन हुई। कस्बे के अनेक सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों के पदाधिकारियों ने भी राठी के निधन पर शोक व्यक्त किया।
सुजानगढ़ ओनलाइन के सभी सदस्यों की तरफ से भी डॉ. राठी को भावभीनी श्रृद्धांजलि अर्पित की।

6 COMMENTS

  1. /सुजानगढ। मनीष हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी नंदकिशोर जांगिड पर मंगलवार शाम फायरिंग कर जानलेवा हमला करने के आरोपियों को वारदात के 24 घंटे बाद भी पुलिस को कोई सुराग नहीं लगा है।
    वारदात के समय नंदकिशोर जांगिड के साथ मौजूद हरिराम जाट निवासी दस्सूसर (रतनगढ) की रिपोर्ट पर पुलिस ने बुधवार शाम सुजानगढ निवासी असलम पुत्र सवाई खां, मनीष पुत्र कैलाशचंन्द्र मालपाणी, महेन्द्र पुत्र धनराज आर्य, निखील पुत्र रविन्द्र आर्य, विक्रम पुत्र शुभकरण पुत्र दयानंद आर्य व नीलम पत्नी मनीष आर्य के खिलाफ भादंसं की धारा 307,120 बी व आर्मस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।
    पुलिस के अनुसार फायरिंग में घायल नंदकिशोर जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती है। कोमा में उसकी हालत स्थिर बताईजाती है। पुलिस असलम व मृतक मनीष के परिवार के साथ नंदकिशोर जांगिड के परिवार की आपसी रंजिश चल रही है। दोनों पक्षों के बीच न्यायालय में भी मामला लंबित है।इसके चलते आरोपियों ने नंदकिशोर की हत्या का षडयंत्र रचा और मुख्य आरोपी असलम ने नंदकिशोर पर फायरिंग की।
    तीन कारतूस मिले
    वारदात के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को 7.65 एमएम पिस्तौल के तीन कारतूस मिले हैं। तीन कारतूसों में दो कारतूस मिस जबकि एक चला हुए कारतूस मौके पर मिले जिन्हें पुलिस ने जब्त कर लिए।
    एफएसएल टीम पहुंची
    पुलिस ने चूरू से एफएसएल टीम बुलाकर घटना स्थल का निरीक्षण करवाया। टीम के सदस्यों ने मौके पर मिले पद चिन्ह, कारतूस व मौके पर बिखरे खून को जांच के लिए लिया है। पुलिस उप अधीक्षक नितेश आर्य के अनुसार पुलिस ने प्रकरण की गंभीरता को देखते आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमों का गठन कर अलग अलग स्थानों के लिए रवाना किया है।
    पुलिस के अनुसार नंदकिशोर पर गाली चलाने का आरोपी असलम खां थाने का हिस्ट्रीशीटर है। असलम के खिलाफ लूट, अपहरण, हत्या का प्रयास, अवैध हथियार रखने के विभिन्न थानों में एक दर्जन मामले में दर्ज है।
    आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने टीमें विभिन्न स्थानों के लिए रवाना की हैं। मामला आपसी रंजिश का है। मामले की गहनता से जांच कर रही है। आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होंगे।- नितेश आर्य, पुलिस उप अधीक्षक, सुजानगढ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here