आतंकी कसाब को फाँसी की सजा सुनाई

SHARE

मुम्बई: दिनांक 26-11-08 को मुम्बई के ताज हॉटल व अन्य स्थानों पर हुए आतंकी हमले में पकङा गया एकमात्र जीवित आतंकवादी अलमल कसाब को स्पेशल कोर्ट के जज एम एल तहलियानी के द्वारा मौत की सजा सुनाई गई। अदालत के द्वारा उसे चार मामलों में दोषी बताया गया। एक मामले के तहत फाँसी व अन्य 4 मामलों में उसे उम्र की कैदी की सजा सुनाई। आर्थर रोङ की स्पेशल जेल में श्रीमान् तहलियानी ने कहा कि ‘यह संभावना नहीं है कि कसाब सुधरेगा’ उसे किसी के द्वारा आतंकी बनाने नहीं ले जाया गया था अपितु वह अपनी मर्जी से आतंकी बना था। वह रहम के लायक नहीं है।
इससे पहले स्पेशल कोर्ट में कसाब की सजा पर बहस हुई थी। जज तहलियानी के द्वारा दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कसाब को 9 साथियों के साथ 166 लोगों की हत्या करने, भारत के खिलाफ युद्ध छेङने, आपराधिक साजिश रचने और गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने के मालले में दोषी मानते हुए फाँसी तथा पाँच अन्य मामलों में उम्र कैद की सजा सुनाई।

9 COMMENTS

    • ye mere cousin ka ad h, ye free mai lagaya.

      or site ko run karne mai har month 10 thousand rs lagte h wo mai khud deta hoo to ad lagane mai problem kya h?

      news to free mai hi mil rahi h logo ko.

LEAVE A REPLY